Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
    | | Contact: 8407908145 |
    Published On : Wed, Aug 30th, 2017
    nagpurhindinews | By Nagpur Today Nagpur News

    डॉ. आंबेडकर इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज एंड रिसर्च पर राष्ट्रीय उद्यमशीलता पुरस्कार के प्रसार की जिम्मेदारी

    Dr. Ambedkar Institute of Management Studies and Research
    नागपुर: 
    कौशल विकास और उद्यमशीलता मंत्रालय ने पूरे देश में उद्यमशीलता की संस्कृति को प्रोत्साहित करने के लिए राष्ट्रीय उद्यमशीलता पुरस्कारों की शुरुआत की है. यह प्रतिष्ठित पुरस्कार युवा उद्यमियों और उद्यमशीलता परिस्थिति के निर्माण के लिए उद्यमशीलता विकास के क्षेत्र में युवा उद्यमियों की पहचान और उनके उत्कृष्ट प्रयासों के लिए उन्हें सम्मानित करने के लिए प्रदान किए जाते हैं. यह पुरस्कार भारत के युवाओं के उत्कृष्ट मॉडल पर प्रकाश डालने के अलावा उन्हें पसंदीदा करियर विकल्प के रूप में उद्यमशीलता को अपनाने के लिए भी प्रोत्साहित करता है. इसके तहत वस्तु और सेवा वर्ग में 17 श्रेणियों में यह पुरस्कार दिए जाता है. इसके जनजागरण करने की जिम्मेदारी दीक्षाभूमि स्थित डॉ. आंबेडकर इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज एंड रिसर्च को सौंपी गई है. यह जानकारी आयोजित पत्र परिषद में दी गई. इस दौरान डॉ. आंबेडकर इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज एंड रिसर्च के उद्यमशीलता प्रभारी डॉ. एम. जे. सिद्दीकी और डॉ. सुजीत मैत्रे और प्रोफेसर सत्यजीत मजूमदार उपस्थित थे.

    पत्र परिषद में जानकारी देते हुए बताया गया कि 17 के अलावा 6 अन्य अतिरिक्त श्रेणियों में भी पुरस्कार प्रदान किए जाते हैं. मंत्रालय ने टाटा इंस्टिट्यूट ऑफ सोशल साइंसेस मुंबई, आईआईटी दिल्ली, आईआईएम अहमदाबाद, आईआईटी मुंबई, आईआईटी चेन्नई, एक्सएलआरआई जमशेदपुर और आईआईटी कानपुर समेत देशभर के उच्च शिक्षा के प्रख्यात संस्थानों को इस योजना में लागू करने के लिए भागीदार बनाया है. इन संस्थाओं में टीआईएसएस वर्ष 2017 के पुरस्कारों के लिए लीड पार्टनर है. पुरस्कार की जानकारी देशभर तक प्रसारित करने के लिए संस्थान के लिए यह अनिवार्य किया गया है कि वह अपने संस्थानों के नेटवर्क का उपयोग करे. इस उद्देश्य से टीआईएसएस ने मध्य भारत खासकर विदर्भ में पुरस्कार को लेकर जनजागृति लाने के लिए जनजागृति अभियान चलाने के लिए डॉ. आंबेडकर इंस्टिट्यूट ऑफ़ मैनेजमेंट स्टडीज एंड रिसर्च दीक्षाभूमि को सहयोगी बनाया है.

    इस पुरस्कार के लिए आवेदन करने के इच्छुकों की मदद करने की जिम्मेदारी भी डॉ. एम. जे. सिद्दीकी और डॉ. सुजीत मैत्रे को सौंपी गई है. इच्छुकों के लिए टोल फ्री नम्बर भी दिया गया है साथ ही इंस्टिट्यूट एक बूथ भी लगाएगा. आवेदन करने के इच्छुक उद्यमी उम्मीदवार पुरस्कार के लिए ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया बूथ के जरिए कर सकेंगे. जिसकी अंतिम तिथि 15 सितम्बर होगी.


    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145