Published On : Tue, Apr 9th, 2019

गोंदिया: असली बोतल, नकली शराब का पर्दाफाश

बनावटी शराब कारखाने पर पुलिस का छापा

गोंदिया: गोंदिया नकली अंग्रेजी शराब बनाने का एक प्रमुख केंद्र बनता जा रहा है। शहर के मुर्री क्षेत्र (बाजपेई वार्ड) में चल रहे एक नकली मिलावटी शराब बनाने के रैकेट का खुलासा गत दिनों स्टेट एक्साइज विभाग द्वारा किए जाने के बाद अब स्थानिक अपराध शाखा पुलिस दल ने गोंदिया से सटे ग्राम नागरा के खेत परिसर में स्थित घर के कमरों में चल रहे अवैध नकली शराब बनाने के कारखाने का पर्दाफाश किया है।


जिला पुलिस अधीक्षक विनीता साहू को गुप्तचर से यह जानकारी मिली कि, हेमंत पदमाकर (रा. गोरेगांव) नामक शराब माफिया यह नागरा के सूने इलाके में किराए का घर लेकर उसमें नकली मिलावटी शराब बनाने का कारखाना लघु उद्योग के रूप में चला रहा है लिहाजा 7 अप्रैल रविवार को एसपी साहू के मार्गदर्शन में एलसीबी टीम ने नागरा निवासी चंदन पगरवार के खेत स्थित घर के शराब निर्माण कारखाने पर दबिश दी तथा 7 आरोपियों को नकली शराब तैयार करते हुए उसे हुबहू असल दिखने वाली बोतल में भरकर, लेबल लगाकर और ढक्कन मशीन से सील करते हुए रंगेहाथों पकड़ा।

कारखाने से पुलिस ने राकेट संतरा नाम से अंकित 52 शराब भरे बक्से (कीमत 1 लाख 35 हजार रू), बनावटी फिरकी देशी शराब (कीमत 19,968 रू), दो 2 बड़े प्लास्टिक ड्रम मे नकली शराब बनाने हेतु रखा गया 400 लीटर केमिकल, बनावटी शराब यह असली शराब जैसी दिखाई पड़े इस उद्देश्य से इस्तेमाल की जाने वाली 12 अलग-अलग प्रकार के फ्लेवर (परफ्यूम- इत्र) की बोतलें, अंग्रेजी शराब की खाली बोतलें, देशी-विदेशी शराब के लेबल, शराब बोतलों के ढक्कन सील करने की मशीन, खाली खरडे, किर्लोस्कर कम्पनी का मोटर पंप, शराब निर्माण में उपयोग अन्य रा-मटेरियल इस तरह कुल 4 लाख 70 हजार का साहित्य बरामद करते हुए 7 आरोपियों तथा एक घर मालक इस तरह 8 आरोपियों को हिरासत में ले लिया है जबकि इस प्रकरण में शामिल मुख्य सरगना अब भी फरार है जिसकी शिद्दत से पुलिस तलाश में जुटी है।

 

 

 

 

 

 

 

रवि आर्य