Published On : Sat, Apr 1st, 2017

नोट बदलने आए युवक के साथ आरबीआई सुरक्षा रक्षकों ने की मारपीट

नागपुर: शुक्रवार 31 मार्च को भी शहर के आरबीआई में 1000 और 500 के पुराने नोटों को बदलने के लिए आरबीआई के सामने नागरिकों की जमकर भीड़ जुटती रही। लेकिन बुलढाणा जिले के लोनार से आए नितेश चौधरी के साथ आरबीआई के सुरक्षा रक्षकों के साथ ही पुलिस कर्मियों ने भी मारपीट की। नितेश ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि उसकी दादी के पास 55 हजार रुपए थे। लेकिन उसकी मृत्य होने के कारण वो रुपए लेकर बैंक नहीं जा पाए थे। सवा महीने तक पूजा पाठ करने की वजह से रुपए को हाथ भी नहीं लगा सकते थे। लिहाजा सब क्रियाक्रम होने के बाद जब 1000 और 500 के 55 हजार रुपये के पुराने नोट लेकर गांव से नागपुर सुबह करीब 6 बजे आरबीआई पहुंचा। लेकिन यहां सुरक्षा रक्षकों की ओर से उससे कहा गया कि साढ़े दस बजे बैंक खुलेंगे।

उसने आरोप लगाते हुए कहा कि जब बैंक खुले तो उसने नोट बदलवाने की जानकारी सुरक्षा रक्षक को दी और बैंक मेनेजर से मिलने की इच्छा जताई। लेकिन रक्षकों ने उसकी बात को दरकिनार कर उसके साथ मारपीट की। केवल यही नहीं परिसर में मौजूद पुलिस कर्मियों ने भी उसके साथ मारपीट की गई। इस दौरान एक नागरिक सुधीर दुरूपकर ने बताया की सरकार की ओर से गरीब नागरिकों को परेशान किया जा रहा है। यही नहीं आरबीआई के अधिकारी बढ़ती भीड़ को देखते हुए नेताओ से मिलने, जिलाधिकारी को निवेदन देने और धरना प्रदर्शन करने की सलाह देते नजर आए।