Published On : Thu, Sep 14th, 2017

Video: रेव पार्टी मनाते पकड़े गए लड़के-लड़कियां, थाने लाकर गुपचुप तरीके से छोड़ा

Rave Party Raid
नागपुर:
जरीपटका पुलिस को देर रात एक रेव पार्टी की सूचना मिली। पुलिस ने सक्रियता दिखाते हुए एक फार्म हाउस पर छापा मारा। इसका पंचनामा तैयार किया। आरोपी लड़के-लड़कियों को एक वाहन में बैठाकर देर रात थाने ले आए। उनकी मेडिकल जांच करवाई और रातों-रात उन्हें छोड़ भी दिया। रविवार देर रात से सोमवार की सुबह तक चली इस कर्रवाई की भनक पुलिस ने किसी को लगने नहीं दी। जिसके चलते इस प्रकरण को विभाग द्वारा दबाए जाने का प्रयास किए जाने की चर्चा जोरों पर है। इस स्याह रात का काला सच तब सामने आया जब किसी ने पूरे मामले का गोपनीय वीडियो बनाकर उसे वायरल कर दिया। शुरुआत में जरीपटका पुलिस इस तरह की कार्रवाई से इंकार करती रही। बाद में स्वीकार तो किया, लेकिन प्रकरण की जानकारी देने से हिचकिचाती रही। यही वजह है कि पुलिस की कार्रवाई संदेह के घेरे में है।

पुलिस ने थाने लाकर गुपचुप तरीके से छोड़ा
रविवार की देर रात पुलिस को सूचना मिली की कामठी मार्ग पर स्थित एक फार्म हाऊस में रेव पार्टी चल रही है। खसाडा से करीब दो किमी दूरी पर विक्रम नामक व्यक्ति के आलिशान फार्म हाऊस पर छापा मारा गया। सूत्रों के अनुसार जब पुलिस ने छापामार कार्रवाई की तो वहां अनेक युवक-युवतियां नशे में थे। उन पर अश्लीलता का रंग चढ़ा था। अचानक की गई पुलिस कार्रवाई से वहां हड़कंप मच गया। पार्टी का आयोजन पारड़ी क्षेत्र निवासी रोहन और उज्वला नामक दंपत्ति द्वारा किया गया था। पुलिस ने युवक-युवतियां को पकड़कर कर थाने ले आई।

बताया जाता है कि इस पार्टी में एक विख्यात महिला अधिकारी के पति भी मिले थे। आरोपियों को लेकर थाने जा रही पुलिस के पहुंचने के पूर्व ही मामले को रफा-दफा करने के लिए लगातार फोन घनघनाते रहे। भारी दबाव के बीच पुलिस ने युवक-युवतियों को मेडिकल जांच के लिए भेज दिया। जब पुलिस पर अत्याधिक दबाव बढ़ा तो वह इसे रफा-दफा करते हुए प्रकरण में केवल प्रतिबंद्ध कार्रवाई (धारा 110,117) दर्ज कर आरोपियों को रिहा किया। इसके बाद तो पुलिस ने चुप्पी साध ली।

ऐसे उजागर हुआ मामला
यह मामला बुधवार को सामाने आया। वायरल वीडियो जब संवाददाता तक पहुंचा तो मामले की पड़ताल शुरू की गई। सबसे पहले जरीपटका थाने के कई जिम्मेदार अफसरों से बात की गई। सभी ने इस मामले को नकारा। पश्चात उन्हें वायरल वीडियाे की जानकारी दी, तब जाकर थाने के पीएसआई एस.जी.खेड़ेकर ने इस घटना को स्वीकारा।

…पुलिस ने सुनाई कहानी
मुझे रेव पार्टी की नहीं बल्कि कुछ युवक-युवतियों द्वारा कार में धूम मचाने की सूचना मिली थी। इस बीच खसाड़ा स्थित साईं मंदिर के पास पुलिस ने उन्हें रोक लिया। हिरासत में लेकर कार में सवार युवाओं को थाने लाया गया। उनकी मेडिकल जांच कराई गई। पश्चात उन्हें छोड़ दिया गया। (आपने फार्म हाऊस पर भी तो छापा मारा था?) हां, हम फार्म हाऊस पर गए थे, हमने पंचनामा बनाया था। (आपने मेडिकल के लिए भी तो भेजा था?) आपको यह सब जानकारी कहां से मिल गई। हां, मेडिकल भी करवाया। जब उसकी रिपोर्ट निगेटिव आई है। तभी भी हमने प्रतिबंधक कारवाई की है। जांच में पता चला फ़ार्म हाऊस में जन्मदिन की पार्टी थी। लड़कियो के पति भी मौजूद थे।
-एस.जी.खेड़ेकर, उप निरीक्षक, जरीपटका थाना

सम्बंधित थानेदार को कई मर्तबा फोन लगाने के बाद भी उन्होंने प्रतिसाद नहीं दिया। – जरीपटका पुलिस निरीक्षक मुलक
जांच के बाद कार्रवाई.

वीडियो मंगवाया गया है। इसकी गंभीरता से जांच कराई जाएगी। यह जांच डीसीपी झोन 5 के कृष्णकांत उपाध्याय कर रहे है।
-डॉ. के.व्यंकटेशम, पुलिस आयुक्त नागपुर शहर.