Published On : Tue, Sep 19th, 2017

महामहिम दौरा : चौतरफा व्यवस्था में जुटा जिला प्रशासन

Ram Nath Kovind
नागपुर: महामहिम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के 22 सितंबर के संभावित दौरे को लेकर प्रशासन हर उस मार्ग को व्यवस्थित करने में जुटा हुआ है जहां से उनका काफिला गुजरेगा. नागपुर विमानतल से लेकर दीक्षाभूमि, रामटेक, कामठी ड्रैगन पैलेस और रेशमबाग की उन सड़कों पर तेजी से दुरुस्ती के काम चल रहे हैं. डामरीकरण, रंगरोगन, डिवाइडर दुरुस्ती, बिजली के खंबों की मरम्मत पर पेंटिंग का काम चल रहा है. मार्ग विभाजकों पर लगे पौधों की कटाई-छटाई और खरपतवार की सफाई का कार्य भी तेजी से किया जा रहा है. अजनी स्टेशन के सामने से लेकर रहाटे टी-प्वाइंट तक सड़क की मरम्मत की जा रही है. शांतिनाथ जैन मंदिर में विद्यासागर महाराज चातुर्मास के लिए ठहरे हुए हैं. संभावना है कि राष्ट्रपति उनसे मिलने जाएंगे और वहां उनके आधे घंटे रुकने की संभावना है. प्रशानिक अमले ने परिसर का जायजा लिया और अपनी रिपोर्ट राष्ट्रपति कार्यालय को भेजी है.

हेलिकाप्टर से भी कार्यक्रम स्थल तक जा सकते हैं
शहर में चल रही मेट्रो, उड़ान पुलिया सहित सीमेंट सड़क निर्माण आदि के काम जारी हैं. लगभग ६०-६५ सड़कों पर निर्माण कार्य शुरू होने से आवाजाही बाधित होती रहती है ,इसलिए महामहिम को एयरपोर्ट से राजभवन, राजभवन से रेशिमबाग, फिर ड्रैगन पैलेस और रामटेक जैन मंदिर आदि तक ले जाने के लिए हेलिकॉप्टर का उपयोग किया जा सकता है. साथ ही राष्ट्रपति जहां-जहां जाने वाले हैं, उन परिसरों का सुरक्षा की दृष्टि से जायजा लेकर स्थानीय आलाधिकारियों ने अपनी रिपोर्ट राष्ट्रपति कार्यालय को भेज दी है. हालांकि अब तक राष्ट्रपति कार्यालय से कोई नियोजित कार्यक्रम नहीं आया है. रामटेक में तो रामसागर खिंडसी तालाब परिसर में राष्ट्रपति के काफिले को उतारने के लिए अस्थायी हेलिपैड का निर्माण कार्य भी शुरू कर दिया गया. हेलीपैड से मंदिर परिसर तक मार्ग को चकाचक किया जा रहा है.

उल्लेखनीय यह है कि कामठी ड्रैगन पैलेस में विपश्यना सेन्टर का उद्घाटन राष्ट्रपति के हाथों किया जाना है. परिसर में तैयारियां जोरों से चल रही हैं. अधिकारियों ने संभावना जताई है कि राष्ट्रपति कामठी भी हेलीकाप्टर से जा सकते हैं. ड्रैगन पैलेस परिसर को चकाचक करने में भारी संख्या में मजदूरों को लगाया गया है. वहीं आलाधिकारी व पैलेस के पदाधिकारी खुद तैयारियों पर नजर रखे हुए है. दीक्षाभूमि में भी इसी तरह की तैयारियां चल रही हैं. राष्ट्रपति दौरे के बाद दशहरा पर्व भी है, जिसकी भी उक्त दोनों जगहों पर भारी तैयारियां चल रही हैं. सुरक्षा की दृष्टि से पुलिस प्रशासन व अन्य एजेंसियां अपना कार्य कर रही हैं. संभावित दौरे के मिनट-टु-मिनट कार्यक्रम तो फिलहाल नहीं आए हैं, लेकिन अधिकारियों के अनुसार राष्ट्रपति का काफिला एयरपोर्ट से सीधे दीक्षाभूमि पहुंचेगा. ड्रैगन पैलस से लौटने के बाद वे राजभवन में आराम करेंगे. उसके बाद रेशमबाग मैदान स्थित कवि सुरेश भट सांस्कृतिक सभागृह का लोकार्पण करने पहुंचेंगे व यहां से दिल्ली रवाना होंगे.