Published On : Tue, Jun 5th, 2018

टोयोटा कंपनी नहीं दे रही थी सर्विस, 40 लाख की फॉर्च्यूनर को कचरा उठाने में लगा दिया

पुणे: आप लाखों रुपए खर्च करके आलिशान कार खरीदें, लेकिन चंद रोज़ में ही उसमें खराबी निकल आए। इसके लिए आप बार-बार कंपनी में शिकायत करें, मगर कोई सुनवाई न हो, तो आपका गुस्सा होना लाजमी है। मुमकिन है कि इस गुस्से में आप कंपनी के खिलाफ अदालत का दरवाज़ा भी खटखटाएं, लेकिन पुणे के पिंपरी चिंचवड़ निवासी हेमराज चौधरी ने अपना गुस्सा व्यक्त करने के लिए कुछ अलग किया।

कचरा भरकर शोरूम के सामने खड़ी कर आया
चौधरी ने अपनी 40 लाख की गाड़ी से कूड़ा उठाया और उसे कंपनी के शोरूम के सामने खड़ी कर आए। निगड़ी निवासी हेमराज चौधरी ने 18 मार्च को भोसरी स्थित शोरूम से 40 लाख की कीमत वाली टोयोटो फॉर्च्यूनर खरीदी थी। लेकिन चंद रोज़ में ही गाड़ी में खराबी आने लगी। हेमराज ने कंपनी से इसकी शिकायत की, उन्हें उम्मीद थी कि पहली सर्विस में परेशानी दूर हो जाएगी, लेकिन ऐसा हुआ नहीं।

बार-बार सर्विसिंग से हो गए परेशान
हेमराज ने कंपनी को फिर से अपनी समस्या से अवगत कराया, मगर दूसरी सर्विस के बाद में उन्हें संतुष्टि नहीं मिली। इससे हेमराज इस कदर नाराज़ हो गए कि उन्होंने अपनी महंगी कार में कचरा लादा और उसे शोरूम के सामने खड़ी कर आये। हालांकि बुधवार रात को पुलिस ने गाड़ी को अपने कब्जे में ले लिया। इस संबंध में कंपनी का बस यही कहना है कि कार में कोई समस्या नहीं है।

क्या थी खराबी
हेमराज के मुताबिक, गाड़ी का इंजन गर्म हो रहा था और उसके एसी में भी समस्या थी। इसके अलावा स्टेयरिंग का कलर भी हट रहा था। हेमराज का यह भी कहना है कि सर्विस के लिए उनसे कई चक्कर लगवाए गए।

अब मुंबई महापालिका उससे कचरा उठाएगी
उनका कहना है कि यदि कंपनी सर्विस ही ठीक से नहीं दे सकती है तो फिर इतनी महंगी गाड़ी खरीदने का क्या मतलब। ऐसी गाड़ियों को मुंबई महापालिका को देकर कचरा उठवाया जा सकता है। इसीलिए में ये गाड़ी मुंबई महापालिका को कचरा उठाने के लिए दे रहा हूँ। हालांकि मुझे नहीं पता कि मेरी गाड़ी शोरूम से पुलिस स्टेशन कैसे पहुंची।