Published On : Wed, Sep 7th, 2016

पतंजलि फ़ूड पार्क उपलब्ध कराएगा रोजगार के हजारो अवसर

Ptanjali Food Park

File Pic

नागपुर: आगामी 10 सितंबर को मिहान में पतंजलि फ़ूड पार्क का उद्घाटन होने वाला है। मिहान में करीब 552 एकड़ की जमीन में बनने वाला यह फ़ूड पार्क देश के बड़े फ़ूड पार्क में एक होगा। बाबा रामदेव के इस प्रोजेक्ट को लेकर सांसद और केंद्रीय मंत्री नितिन गड़करी बेहद आशान्वित है। उन्ही के आग्रह पर बाबा विदर्भ की धरती पर इस प्रोजेक्ट को शुरू करने जा रहे है। इस प्रोजेक्ट की वजह से विदर्भ की प्रगति का दावा खुद नितिन गड़करी कर चुके है। पतंजलि से जुड़े लोगो के मुताबिक इस फ़ूड पार्क के शुरुवाती चरण में ही करीब 7000 लोगो को रोजगार का अवसर उपलब्ध होगा।

इस मेगा फ़ूड पार्क के माध्यम से नागपुर में फ़ूड प्रोसिसिंग से जुड़े उद्योग को स्थापित किया जायेगा। जानकारों की माने तो किसान आत्महत्या से जूझ रहे है।विदर्भ में बाबा रामदेव का प्रोजेक्ट किसानों के लिए विटामिन जैसा साबित होगा। फार्म टू प्लांट सप्लाई चेन को विकसित करने में यह प्रकल्प सहायक सिद्ध होगा। विदर्भ और नागपुर की पहचान संतरे वजह से है। इस फ़ूड पार्क में संतरे से तैयार होने वाले प्रोडक्ट पर खास ध्यान केंद्रित किये जाने की जानकारी पतंजलि की ओर से दी गई है। इस फ़ूड पार्क खुलना संतरा उत्पादक किसानों के लिए फायदेमंद साबित होगा क्यूंकि फसल को उचित भाव न मिलना और स्टोरेज आज भी बड़ी समस्या है।

किसानों को फायदा पहुचाना फ़ूड पार्क का लक्ष्य – बाबा रामदेव
योग गुरु बाबा रामदेव भी अपने इस प्रोजेक्ट को लेकर काफी उत्साही है। उनकी माने तो पतंजलि फ़ूड पार्क का मकसद देश में आयुर्वेद का प्रचार और किसानों फायदा दिलाना है। प्रकृति और बाजार की मार किसानों की फसल को बर्बाद करती है जिससे किसानों को जायज फायदा नहीं मिल पाता। इस प्रोजेक्ट में 32 प्रोसिसिंग यूनिट होंगे जहाँ नियमित तौर पर उत्पादन होगा जिसका फायदा सीधे किसानों को मिलेगा।

बाबा रामदेव आयुर्वेद के ब्रांड एम्बेसडर – नितिन गड़करी
पतंजलि फ़ूड पार्क को मिहान में लाने का श्रेय केंद्रीय मंत्री नितिन गड़करी को ही जाता है। गड़करी की माने तो नागपुर से बाबा के रिश्ते का सीधा फायदा विदर्भ की जनता को होगा। राज्य की 80% वनक्षेत्र वाले विदर्भ में आयुर्वेदिक औषधि का खजाना है। बाबा देश में आयुर्वेद के ब्रांड एम्बेसडर है। विदर्भ में बाबा के शुरू होने वाले प्रोजेक्ट में विदर्भ की वनसंपदा का ही इस्तेमाल होगा। इस प्रक्रिया में कई लोग बाबा के साथ जुड़ेंगे जिस वजह से रोजगार के अवसर पैदा होंगे। बाबा विदेशी कंपनियों के खिलाफ जंग लड़ते हुए स्वदेशी को पहचान दिला रहे है। जिसका सीधा फायदा देश को होगा बाबा के इस अभियान में अब विदर्भ भी जुड़ गया है। मिनिस्ट्री ऑफ़ फ़ूड प्रोसेसिंग इंड्रस्टी ने हर राज्य में फ़ूड पार्क बनाने का फैसला लिया है। उसी के तहत राज्य में नागपुर में इस फ़ूड पार्क को शुरू किया जा रहा है।

मिहान में बनने वाले फ़ूड पार्क में पतंजलि के लगभग सभी उत्पादों का निर्माण होगा। आरोग्य आटा, जूस, कॉस्मेटिक, हर्बल प्रोडक्ट जिसे कुल 150 से ज्यादा जीवनावश्यक वस्तुओ का उत्पादन यहां किया जायेगा।

–सैमुएल गुणासेखरन – मुख्य संवाददाता, नागपुर टुडे