Published On : Mon, Sep 27th, 2021

तीसरी लहर के मद्देनजर निजी अस्पताल भी तैयार रहें : राउत

-पालकमंत्री के हाथों स्वास्थ्यम अस्पताल में कार्डियोलॉजी स्पेशल यूनिट का हुआ उद्घाटन

नागपुर: नागपुर जिले में दूसरी लहर के दौरान न केवल सरकार बल्कि निजी क्षेत्र ने भी बहुत जिम्मेदारी से काम किया है। प्रशासन ने इसका संज्ञान लिया है। तीसरी लहर में भी प्रशासन को नागपुर शहर के निजी अस्पतालों की मदद की जरूरत पड़ेगी। इसके लिए तैयार हो जाएं। ऊर्जा मंत्री और नागपुर जिले के पालकमंत्री डॉ. नितिन राउत ने रविवार को यह आवाहन किया।

29 सितंबर को ‘विश्व हृदय दिवस’ मनाया जा रहा है। इसके चलते नागपुर के स्वास्थ्यम अस्पताल में पिछले 7 दिनों से हृदय जागरूकता कार्यक्रम चलाया जा रहा है। इसके मद्देनजर स्कूली बच्चों की भागीदारी के साथ नॉलेज गैलरी का भी आयोजन किया जा रहा है। इस अवसर पर निदेशक संचालक डॉ. पंकज हरकुट, डॉ. सोहल पराते, डॉ. रोहित कुमार गुप्ता, डॉ. पूनम हरकुट, डॉ. प्रीति गुप्ता, डॉ. विजय हरकुट के साथ-साथ चिकित्सा कर्मचारी उपस्थित थे।

कार्यक्रम के दौरान पालकमंत्री ने कार्डियक रिहैबिलिटेशन सेंटर का उद्घाटन किया। इस अवसर पर उन्होंने शहर के निजी अस्पतालों से तीसरी लहर के आगमन के मद्देनजर पूरी तरह से तैयार रहने की अपील की। एम्स की स्थापना की तीसरी वर्षगांठ पर उन्होंने एम्स अस्पताल परिसर, दोपहर को मेडीशाईन हॉस्पिटल और शाम को स्वास्थ्यम अस्पताल का दौरा किया। पालकमंत्री ने कहा कि इन अस्पतालों ने दूसरी लहर के दौरान कई कोविड मरीजों की जान बचाने में महत्त्वपूर्ण योगदान दिया है। इसके लिए मैं इस अस्पताल के सभी डॉक्टरों और मेडिकल टीम का आभार मानता हूं और उनकी योगदान की सराहना करता हूं।

पालकमंत्री ने कहा, वर्तमान स्थिति में हर जगह के मरीज हृदय से संबंधित समस्याओं से ग्रस्त हैं। मुझे खुशी है कि स्वास्थ्यम अस्पताल इसके लिए एक विशेष अभियान चला रहा है। इस संबंध में स्कूलों के माध्यम से जागरूकता पैदा करने का अभिनव प्रयोग भी उल्लेखनीय है और आज मैंने स्कूली बच्चों द्वारा ह्रदय से संबंधित बीमारियों के बारे में जागरूकता पैदा करने के प्रयासों को देखा। पालकमंत्री डॉ. नितिन राउत ने बच्चों द्वारा बनाए गए चित्रों की सराहना भी की।

पालकमंत्री डॉ नितिन राउत ने कहा कि मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और तेलंगाना राज्यों के मरीजों को लाभान्वित करते हुए एम्स नागपुर मध्य भारत में सबसे अच्छे स्वास्थ्य केंद्रों में से एक के तौर पर विकसित हो रहा है। भौगोलिक दृष्टिकोण से यह संस्थान वहां के नागरिकों की स्वास्थ्य संबंधित जरूरतों के मद्देनजर एक सुविधाजनक और लाभकारी संस्थान साबित होगा।