| | Contact: 8407908145 |
    Published On : Fri, Nov 27th, 2020

    Covid-19 के दौरान मध्य रेल नागपुर मंडल द्वारा उठाए गए एहतिहात कदम

    नागपुर– मध्य रेल नागपुर मंडल ने कोरोना के संक्रमण होने से बचाव हेतु , समय – समय पर केंद्र सरकार और राज्य सरकार के निती और नियमो का अनुपालन अपने कर्मचारी एवम यात्रियो से करवाया है, जैसे की, सामाजिक दूरी, मास्क का प्रयोग और सैनेटाईजर

    ईस्तेमाल किया गया. इसके प्रचार और प्रसार हेतू मंडल कार्यालय ने सभी स्टेशनो पर बैनर और पोस्टर लगवाए गए है स्टेशनो के प्लैटफ़ार्म शौचालय , विश्राम गृह स्टेशन का सम्पूर्ण परिसर की नियमित रूप से साफ सफाई कराई जा रही है .

    लॉकडाउन के समय मे श्रमिक ट्रेनों को चलाया गया . मध्य रेल नागपुर मंडल ने गैर सरकारी संघटनों के माध्यम से यात्रियों के लिए मुफ्त भोजन पानी की व्यवस्था की गयी. अनलॉक के समय मे स्पेशल ट्रेनों को चलाया गया, इन स्पेशल ट्रेनों का ठहराव जिन स्टेशनो पर हुआ, जैसी कि, नागपुर, बल्लारशाह, चंद्रपुर, वर्धा, सेवाग्राम, धामनगाँव, पुलगाँव, काटोल, नरखेर, आमला, बेतुल, इत्यादी स्टेशनो पर यात्रियो के बोर्डिंग और डी-बोर्डिंग के समय पर कोविड –19 बचाव के नियमो का अनुपालन किया गया. आरपीएफ स्टाफ द्वारा और श्रमिक विशेष के दौरान बोर्डिंग यात्रियों की उचित कतार लगाना , नागपुर स्टेशन पर टिकट चेकिंग स्टाफ द्वारा पूरे स्टेशन पर उचित बैरिकेडिंग की गई है. प्रवेश और निकास के लिए यात्रीयो को आरपीएफ/ टिकिट चेकिंग विभाग द्वारा स्टेशन परिसर स्टैंड के साथ उचित साइन बोर्ड निर्देशित करने के लिए रखा गया है. बोर्डिंग यात्रियों के लिए ATMA प्रणाली द्वारा बोर्डिंग प्रक्रिया में मदद करता है l कोविड 19 महामारी के सामुदायिक प्रसार को रोकने ,रोकथाम के लिए आत्मा प्रणाली से सहायता हुई है. यह रेलवे प्रशासन को स्वचलित रूप से सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने में सहायक सिद्ध हुआ है . इस प्रणाली से मानव शरीर के तापमान , चेहरे के मुखौटे और टिकट के विवरण की जाच किया जा सकता है. स्टेशन पर यात्रियों डी-बोर्डिंग प्रक्रिया के अंतर्गत स्क्रीनिंग और सैनिटाइजेशन और स्टैंपिंग की गई .

    राज्य सरकार के पत्र संख्या DMU/2020/CR.-92/DisM-1 . Dated :23/11/2020 के आधार पर रेल्वे विभाग को आदेशों का मध्य रेल नागपुर मंडल पालन कर रहा है. नागपुर मंडल के रेल्वे स्टेशनो पर, दिल्ली,गोवा, राजस्थान, गुजरात से आने वाले यात्रियों कि (RT-PCR)नेगीटिव टेस्ट रिपोर्ट की जांच की जा रही है . महाराष्ट्र में प्रवेश के पूर्व (RT-PCR) की जांच 96 घंटे के भीतर होनी चाहिये . यदि यात्रियो के पास (RT-PCR) नेगीटिव टेस्ट रिपोर्ट नहीं पाई जाती है, तो यात्रि कि थर्मल स्क्रीइंग कि जायेगी, यदि यात्री का तापमान नॉरमल पाया जाता है, तो उसे घर जाने कि अनुमति दी जायेगी. परंतु अधिक पाये जाने पर स्टेशन पर नगर पालिका के चिकित्सा विभाग द्वारा (Antigen) टेस्ट की जायेगी. जांच के दौरान यात्री यदि कोविड पाया जाता है तो उसे कोविड़ केयर सेंट्रर भेजा जायेगा.

    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145