Published On : Tue, Nov 19th, 2019

लिखित आश्वासन के बाद पूर्व स्वास्थ्य समिति सभापति का अनशन समाप्त

गांधीबाग ज़ोन परिसर का कचरा जलाराम मंदिर के निकट डालने से क्षुब्ध हुए थे पूर्व सभापति मनोज चापले

नागपुर: पुणे की ‘बीवीजी’ समूह को ज़ोन 6 से लेकर 10 तक का कचरा संकलन करने का ठेका दिया गया,वे मनपा प्रशासन की लापरवाही से अपनी मनमर्जी गांधीबाग ज़ोन परिसर का कचरा प्रभाग 22 में अवैध रूप से जमा कर रहे थे,जिसका विरोध जनहित में मनपा के पूर्व स्वास्थ्य समिति सभापति मनोज चापले ने किया।जब ‘बीवीजी’ सह मनपा प्रशासन ने परिसर को कचरा मुक्त करने का लिखित आश्वासन दिया तो चापले ने अनशन समाप्त किया।

चापले ने बताया कि प्रभाग 22 अमूमन सिविल क्षेत्र हैं, यहाँ प्रसिध्द जलाराम मंदिर,अस्पताल, रहवासी संकुल से लैस हैं। ‘बीवीजी’ नामक कचरा संकलन करने वाली विवादास्पद कंपनी ने पिछले 4 दिन से गांधीबाग ज़ोन अंतर्गत परिसर का कचरा संकलन कर लकडगंज ज़ोन के बाजू पानी की टंकी के निकट खुली जगह पर जमा करना शुरू कर दिया था। इससे स्वास्थ्य पर आसपास के नागरिक व आवाजाही करने वालों पर पड़ रहा था। स्थानीय नागरिकों की शिकायत पर चापले ने गांधीबाग ज़ोन के वार्ड अधिकारी से चर्चा कर समस्या सुलझाने का निर्देश दिया लेकिन उन्होंने नज़रअंदाज किया। इससे क्षुब्ध आज सुबह स्थानीय नागरिकों के संग चापले ने न सिर्फ ‘बीवीजी’ के वाहनों को कचरा डालने से रोका बल्कि तत्काल समस्या निवारण हेतु अनशन पर बैठ गए।

चापले ने बताया कि इन कचरों में मोमिनपुरा क्षेत्र में काटने वाले जानवरों का मलवा भी होने से परिसर के नागरिकों का जीना दूभर हो गया था। चापले ने यह भी जानकारी दी कि ‘बीवीजी’ के पास न जेसीबी और न ही टिप्पर हैं, मनपा की मेहरबानी पर मनपा के मशीन सह गाड़ियों का उपयोग गैरकानूनी ढंग से किया जा रहा।

अनशन व जनसैलाब को उग्र होता देख मनपा प्रशासन व ‘बीवीजी’ ने लिखित आश्वासन दिया कि अगले 2-3 दिन में इस परिसर का कचरा पूर्ण हटा दिया जाएगा तब चापले सह नागरिकों ने अनशन समाप्त की।