Published On : Wed, Sep 24th, 2014

नागपुर: खुद का अश्लील वीडियो बनाकर महिला ने सेवानिवृत्त बैंक कर्मी से ऐंठे 1.8 लाख रूपए!

Advertisement


नागपुर। 
एक महिला ने अपने कुछ साथियों के साथ मिलकर एक सेवानिवृत्त बैंक कर्मचारी के साथ अपना ही अश्लील वीडियो और फोटो निकाल लिया और फिर उस आदमी को ब्लैक मेल करके उससे 1 लाख 80 हजार रूपए ऐंठ लिए. हुडकेश्वर पुलिस ने महिला सहित इसखेल के मास्टरमाइंड अशोक पाईकराव और उसके 2 साथियों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार आरोपियों में फर्जी रिपोर्टर का भी सामावेश बताया जा रहा है. बताया जा रहा है कि ये लोग अश्लील तस्वीरें और वीडियो बनाने के बाद फर्जी रिपोर्टर बनकर लोगों से ठगी करते थे. बदनामी के डर से सेवानिवृत्त बैंक कर्मचारी इनके झांसे में आ गया.

पुलिस के अनुसार फरियादी सेवानिवृत्त बैंकर्मचारी भगवत बावनकुले उम्र 62 साल जूना ज्ञानेश्वर नगर मनेवाड़ा रिंग रोड निवासी है. पांच साल पहले आरोपी महिला कल्पना अशोकराव मनचलवार उम्र 35 साल बावनकुले के मकान में किराये से रहती थी. फिलहाल वह महिला अपने बच्चों के साथ सीताबाई घाट के पास बेसा में एक डुप्लेक्स में रहती है. हाल ही में भगवत बावनकुले के लड़के की शादी की बात चल रही थी. कल्पंना को भी इस बात की भनक लग गई थी. पैसे कमाने के लालच में कल्पना और उसके गिरोह ने बावनकुले को ठगने की योजना बनाई.

योजना के तहत कल्पना मनचलवार ने बावनकुले को फोन करके यह कहकर अपने घर बुलाया कि आपके बेटे के लिए मेरे एक परिचित ने एक इंजीनियरिंग की हुई लड़की देखी है. कल्पना ने बावनकुले को बताया कि संबंधित लड़की भी उसके घर आने वाली है इसलिए वे भी उसे देखने के लिए घर आ जाएं. कल्पना की योजना से अनजान बावनकुले अपनी मोटरसाइकिल से कल्पना के घर पहुंच गया. कल्पना ने बावनकुले को ऊपर के कमरे में बुलाया. योजनाबद्ध तरीके से उसे बातों में फंसाकर उसके शरीर से लिपटकर उसे अर्धनग्न किया गया. योजनाबद्ध तरीके से इसका वीडियो  फर्जी रिपोर्टर कपिल गोपाल मेश्राम उम्र 29 साल, विश्वकर्मा नगर तथा कंचन लुड़ेकर ने अपने मोबाइल पर ली तथा फोटो भी निकाले.
इस खेल के मास्टरमाइंड अशोक पाइकराव के कहने पर वीडियो तथा तस्वीरें निकाली गयी थी. इधर महिला धीरे आवाज में शोर मचाने लगी. योजनाबद्ध तरीके से कपिल मेश्राम और कंचन कमरे के भीतर घुसे और सीधे बावनकुले को तीन-चार थप्पड़ जड़ दिए, साथ ही परिवार तथा न्यूज़ में यह विडिओ दिखाने की धमकी दी. इधर महिला ने बावनकुले पर जबरदस्ती करने का आरोप भी लगाया. बावनकुले से जबरन दस हजार रूपये भी कपिल ने छीन लिए. बदनामी का डर दिखाकर उसे अपने गाड़ी में बिठाकर मानेवाड़ा स्थित यूनियन बैंक मे ले जाकर उससे 1 लाख 70000 रुपये निकालवा लिए. इतना ही नहीं उससे 500 रुपये के कोरे स्टैम्प पेपर पर जबरन दस्तखत तथा अंगूठा लगवा लिया.

Advertisement
Advertisement

खेल का मास्टर माइंड अशोक पाईकराव उस समय इसी महिला के घर में बैठा था. पैसे देने के बाद बावनकुले ने जब वह स्टैम्प पेपर वापस माँगा तो अशोक पाइकराव ने कल देता हूं कहकर टाल दिया और आपस में पैसों का बंटवारा कर दिया.

4 -5 दिन से सेवानिवृत्त बैंक कर्मचारी अपना स्टैम्प पेपर वापस मांग रहा था तभी और दोबारा मास्टर माइंड अशोक पाईकराव ने फ़ोन पर बावनकुले से कहा कि उन लोगों को और पैसे की जरूरत है इसलिए वो स्टैम्प पेपर वापस नहीं दे रहे हैं. तभी बैंक कर्मचारी को खुद को ठगे जाने का एहसास हुआ. बावनकुले ने हुडकेश्वर थाने जाकर इस घटना की आप बीती बताकर शिकायत दर्ज की. मामले की गंभीरता को देखते हुए हुडकेश्वर पुलिस ने आईपीसी की धारा 392 ,384, 341, 506, 34 के तहत मामला दर्ज कर महिला सहित तीनो आरोपियों को बीती रात गिरफ्तार किया और अवकाशकालीन अदालत में पेश कर 2 दिन का पीसीआर प्राप्त किया.

इस घटना की आगे की जांच हुडकेश्वर पुलिस कर रही है. पुलिस सूत्रों के अनुसार फर्जी रिपोर्टर कपिल मेश्राम पुराना अपराधी बताया जा रहा है जिस पर मर्डर केस भी चल रहा है. साथ ही मास्टरमाइंड अशोक पाइकराव के उपर नागपुर सहित मराठवाड़ा, मुंबई में भी अपराधिक मामले दर्ज हैं. अशोक पाइकराव जेली चॉकलेट का डिस्ट्रीब्यूटर है साथ ही इसका मुख्य काम प्रॉपर्टी का बताया जा रहा है. हाल ही में इसके खिलाफ कोराडी पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज हुवा है. मुंबई तथा विदर्भ में कई लोगो को चूना लगाने वाला मास्टरमाइंड अशोक पाइकराव हुडकेश्वर पुलिस के हाथ लग चुका है. पाइकराव का संबंध अंतरराज्यीय गिरोह के साथ बताया जा रहा है. हुडकेश्वर पुलिस पाइकराव और उसकी गैंग से कड़ी पूछताछ कर रही है. इस गैंग में कितने लोग शामिल है इसकी जांच भी हुडकेश्वर पुलिस कर रही है. यह कार्रवाई पुलिस इंस्पेक्टर मुंढे मार्गदर्शन में पीइसआई इंगोले, हेडकांस्टेबल गणेश सिंह परिहार, राजू सरागे, पुलिस कॉन्स्टेबल वीरेंद्र बुलरांदे, अजय ठाकुर, अजय गिरुडकर, सतीश ठाकरे, अमित सातपुते, कांस्टेबल अर्चना साखरे, अर्चना कारम्वार आदि ने की.

blackmail

Representational pic

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement