Published On : Thu, May 30th, 2019

ये है मोदी – 2 का संभावित मंत्रिमंडल, जानिए किसकी खुलेगी किस्मत

File Pic: The President, Shri Pranab Mukherjee administering the oath of office of the Prime Minister to Shri Narendra Modi, at a Swearing-in Ceremony, at Rashtrapati Bhavan, in New Delhi on May 26, 2014.

लोकसभा चुनाव 2019 में मिले प्रचंड बहुमत के बाद नरेंद्र मोदी गुरुवार को दूसरी बार प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे. शपथ ग्रहण में कुछ ही घंटे बाकी है लेकिन यह सवाल बना हुआ है कि इस बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कैबिनेट में किन नेताओं को जगह मिलेगी. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार प्रधानमंत्री मोदी के मंत्रिमंडल में कई पुराने मंत्रियों के साथ कुछ नए चेहरे को भी शामिल किया जा सकता है.

दिलचस्प बात यह है कि बीजेपी 303 सीटों के साथ यानी पूर्ण बहुमत से ज्यादा सीटें जीतकर आई है. इसके बावजूद नरेंद्र मोदी कैबिनेट में बीजेपी के सभी सहयोगी दलों को जगह दी जा रही है. इसमें शिवसेना से लेकर जेडीयू और अपना दल तक से मंत्री बनाएं जाएंगे.

मोदी कैबिनेट में इस वक्त जो संभावित नाम सामने आ रहे हैं, उससे अनुमान लगाया जा सकता है कि मंत्रिमंडल में यूपी, बिहार और गुजरात को विशेष तरजीह दी जाएगी. इन तीनों राज्यों से सबसे ज्यादा मंत्री बनने की उम्मीद है. इसके अलावा सरकार पूर्वोत्तर के राज्यों और आने वाले विधानसभा चुनावों को देखते हुए भी बैलेंस बनाने का प्रयास करती नजर आ रही है.

इन मंत्रियों को पहुंच रहा फोन…

नितिन गडकरी

अर्जुनराम मेघवाल

जितेंद्र सिंह

रामदास अठावले

धर्मेंद्र प्रधान

रविशंकर प्रसाद

बाबुल सुप्रियो

सदानंद गौड़ा

मुख्तार अब्बास नकवी

जी किशन रेड्डी

निर्मला सीतारमण

पीयूष गोयल

स्मृति ईरानी

कृष्ण पाल गुर्जर

सुरेश अंगादि

किरण रिजिजू

साध्वी निरंजन ज्योति

प्रह्लाद जोशी

संतोष गंगवार

राव इंद्रजीत

मनसुख मंडाविया

रमेश पोखरियाल निशंक

पुरुषोत्तम रुपाला

राजनाथ सिंह

राजनाथ सिंह को दोबारा मंत्रिमंडल में जगह मिलने की पूरी संभावना है. बीजेपी के दो बार राष्ट्रीय अध्यक्ष रह चुके हैं. इसके अलावा उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे हैं. लखनऊ संसदीय सीट से दूसरी बार जीत दर्ज की है. इससे पहले गाजियाबाद से सांसद रहे हैं.

पीयूष गोयल

पीयूष गोयल का मंत्री बनना लगभग तय है. नरेंद्र मोदी सरकार के पिछली सरकार में कई अहम मंत्रालय की जिम्मेदारी संभाल चुके हैं. मोदी सरकार में वित्त मंत्री रहे अरुण जेटली ने पहले ही साफ कर दिया है कि वह सरकार में शामिल नहीं होंगे. ऐसे में उनकी जगह वित्त मंत्रालय किसी और को दिया जा सकता है. ऐसे में पीयूष गोयल का नाम सबसे पहले है. दरअसल अंतरिम बजट पेश कर चुके रेलवे मंत्री पीयूष गोयल को यह जिम्मेदारी मिल सकती है, क्योंकि पेशे से वह सीए हैं और बीजेपी के कोषाध्यक्ष रहे हैं.

नितिन गडकरी

नरेंद्र मोदी सरकार में नितिन गडकरी के मंत्री बनने की पूरी संभावना है. गडकरी पिछली सरकार में सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री थे. इसके अलावा बाद में गंगा सफाई मंत्रालय की जिम्मेदारी भी संभाली थी. माना जाता है कि पिछली सरकार में गडकरी का काम सबसे ज्यादा पंसद किया गया था. गडकरी बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष रह चुके हैं. दूसरी बार नागपुर सीट से चुनकर आए हैं और संघ के करीबी नेता माने जाते हैं.

रविशंकर प्रसाद

रविशंकर प्रसाद मोदी सरकार में तेज तर्रार मंत्री के तौर पर रहे हैं. ऐसे में रविशंकर प्रसाद का इस बार भी मंत्री बनना लगभग तय है. पिछली सरकार में कानून मंत्री की जिम्मेदारी संभाल रहे थे. इसके अलावा सरकार के प्रवक्ता के तौर पर भी बात रखते रहे हैं.

निर्मला सीतारमण

रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण का एक बार फिर से मंत्रिमंडल में शामिल होना तय है. गुरुवार को पीएम मोदी के साथ निर्मला सीतारमण शपथ ले सकती हैं.

स्मृति ईरानी

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने अमेठी लोकसभा सीट से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को हराकर अपने लिए मंत्रिमंडल में जगह एक बार फिर से पक्की कर ली है. ऐसे में माना जा रहा है कि इस बार फिर से स्मृति ईरानी को मोदी कैबिनेट में अहम जिम्मेदारी मिल सकती है.

प्रकाश जावड़ेकर

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर को भी एक बार फिर से मंत्रिमंडल में शामिल किया जा सकता है. पिछली मोदी सरकार में मानव संसाधन मंत्रालय की जिम्मेदारी संभाल रहे थे. इसके अलावा राजस्थान के प्रभारी की जिम्मेदारी निभाई है, प्रदेश में बीजेपी सभी सीटें जीतने में कामयाब रही हैं.