Published On : Wed, Sep 27th, 2017

फ्री गिफ्ट पर ना जायें, घर खरीदने में अपनी अकल लगायें

Representational Pic


नागपुर/नई दिल्ली:
इस त्योहारी सीजन में डेवलपर होम बायर को बहुत से गिफ्ट ऑफर कर रहे हैं. हम आपको आज यह बता रहे हैं कि क्या ये गिफ्ट वाकई आपके लिए आकर्षक हैं और क्या आपको सिर्फ इस वजह से घर खरीदने का फैसला करना चाहिए कि बिल्डर आकर्षक गिफ्ट दे रहा है.

अपने सपने का घर खरीदने का यह बेहतरीन वक्त है. नवरात्रि के इन दिनों में कीमतें निचले स्तर पर हैं और बिल्डर आकर्षक ऑफर की पेशकश भी कर रहे हैं. कुछ इलाके में तो प्रॉपर्टी कीमतें वाकई निचले स्तर पर हैं, यहां तक कि रिप्लेसमेंट कॉस्ट से भी कम कीमत पर प्रॉपर्टी उपलब्ध है.

होम लोन पर ब्याज दरें अपने 10 साल के निचले स्तर पर हैं. अगर आप वेरिएबल रेट पर लोन लेते हैं और इस समय 8.35 फीसदी पर होम लोन ले लेते हैं तो आपको घर की वास्तविक लागत भी कम चुकानी पड़ेगी.

अगर आप युवा हैं और अपने लिए पहला घर खरीदने जा रहे हैं तो आप सरकार से 2.45 लाख रुपये तक की ब्याज सब्सिडी का भी फायदा उठा सकते हैं. यह सब्सिडी शुरुआत में ही दी जाती है और आप इससे अपना कुल बैंक लोन घटा सकते हैं.

इन सभी बातों के साथ डेवलपर इस सीजन में बिना बिकी प्रॉपर्टी बेचने के लिए जी जान लगा रहे हैं. इसकी वजह मौजूदा प्रोजेक्ट को पूरा करने के लिए पैसे जुटाने की उनकी कोशिश है. काफी दिनों से मंद पडी प्रॉपर्टी बाजार में बिल्डर इस साल तेजी की उम्मीद कर रहे हैं.

बहुत से बिल्डर पहले ही बाजार में तरह-तरह के ऑफर के साथ उतर चुके हैं. कुछ डेवलपर प्रॉपर्टी की बेसिक सेलिंग प्रेस पर डिस्काउंट दे रहे हैं तो कुछ गोल्ड क्वाइन, कार जैसे गिफ्ट दे रहे हैं.

कुछ बिल्डर फ्री कार पार्किंग तो कुछ पजेशन तक प्री ईएमआई पेमेंट का वादा कर रहे हैं.

सवाल यह है कि क्या ये ऑफर इतने ही आकर्षक हैं, जितने दिख रहे हैं? क्या सिर्फ इस वजह से किसी को प्रॉपर्टी खरीदनी चाहिए कि बिल्डर इतना आकर्षक ऑफर दे रहा है?

कोलियर्स इंटरनेशनल इंडिया की एसोसियेट डायरेक्टर (वैल्युएशन एंड एडवाइजरी सर्विसेज) दिव्या सेठ मग्गू ने कहा, ‘फेस्टिवल सीजन में बायर के लिए यह बहुत मुश्किल होता कि उसे समझ में आ सके कि कौन सी डील उसके लिए सही है और कौन सी गलत. यहां ग्राहकों को बहुत बारीकी से हर ऑफर का निरीक्षण करना चाहिए और जरूरी सावधानी बरतनी चाहिए.’

हम आपको बता रहे हैं कि आप कौन सी सावधानी बरतकर फेस्टिव सीजन में बेहतर डील हासिल कर सकते हैं.

जमकर मोलभाव करें
यह बायर का बाजार है. आप मोलभाव करने की अपनी क्षमता का पूरा फायदा उठाने की कोशिश करें. सही कीमत पर प्रॉपर्टी खरीदने का यही मूल मंत्र है. अगर आप घर खरीदने में इंटरेस्टेड हैं और डील क्लोज करना चाहते हैं तो बिल्डर आपको अच्छी डील जरूर देगा.

पहला कदम: सबसे पहले प्रॉपर्टी की कीमत पर मोलभाव करें, क्या फ्री मिल रहा है, उसे भूल जायें.

दूसरा कदम: अब आप इसे मुफ्त मिल रहे सामान के साथ मिलाकर देखें. इससे आपको बेहतर आईडिया मिलेगा कि मुफ्त का माल बढ़िया है या यह ऑफर.

तीसरा कदम: फ्री ऑफर और बिल्डर के भाव और छूट की तुलना करें. किसी सोने के सिक्के या 32 ईंच के टीवी की कीमत 30,000 रुपये के आसपास होगी. इसी तरह मॉड्यूलर किचन पर खर्च एक से पांच लाख रुपये के बीच आ सकता है. यह उसमें इस्तेमाल गैजेट और प्रोडक्ट की क्वालिटी पर निर्भर करता है. कर पार्किंग, कैश डिस्काउंट और फॉरेन ट्रिप्स की भी एक वैल्यू है जिसे आप काउंट कर सकते हैं. चौथा कदम: बिना गिफ्ट के प्रॉपर्टी की कीमत और गिफ्ट वैल्यू में अंतर कीजिये. सभी सूचना के हिसाब से प्रॉपर्टी खरीदने का फैसला करिए.

पजेशन तक ईएमआई नहीं बहुत से डेवलपर सिर्फ 10-20% रकम के शुरुआती भुगतान से ही बुकिंग स्वीकार कर रहे हैं. इसके बाद आप लोन लेंगे और जब तक पजेशन नहीं मिलता आपके लोन की मासिक क़िस्त बिल्डर चुकाएगा. इस तरह की स्कीम बेहतर ऑप्शन है. इससे ना सिर्फ घर की प्रभावी कीमत कम हो जाएगी, बल्कि आपको पजेशन तक के लिए एक सुरक्षा मिल जाती है. इस मामले में भी हालांकि कीमत के मसले पर आप मोलभाव कर सकते हैं.

कई बार डेवलपर शुरुआती दो या तीन साल के लिए मासिक क़िस्त के पेमेंट का वादा करता है, पजेशन तक नहीं. इसलिए इस तरह के लालच में पड़ने से पहले स्कीम के डीटेल अच्छे से चेक करें. आप उससे यह लिखित में लेने के प्रेस करें कि जब तक पजेशन नहीं मिलता, तब तक मासिक क़िस्त से छुटकारा दिया जाय.

कुछ डेवलपर फ्रीबीज ऑफर कर रहे हैं, जबकि बहुत से घर की कीमत में डिस्काउंट या रजिस्ट्रेशन चार्ज पर छूट दे रहे हैं. आपकी जेब के हिसाब से डायरेक्ट डिस्काउंट सबसे बेहतर कदम साबित हो सकता है. घर खरीदना जीवन के बड़े फैसलों में से एक है और इससे आपको थोड़ी राहत मिल सकती है.

इसके साथ ही आप आम दिनों के कीमत और फेस्टिव प्राइस की तुलना करें. कुछ बिल्डर फ्रीबीज के हिसाब से प्रॉपर्टी की कीमत बढ़ा देते हैं और डिस्काउंट की बारिश करते हैं. इसके साथ ही आप उस इलाके में मौजूद अन्य प्रॉपर्टी से भी उसकी कीमत की तुलना कर सकते हैं.