Published On : Sat, Nov 29th, 2014

गडचिरोली : मुख्य मार्ग पर यात्री वाहन, दुर्घटना के मामलों में वृद्धि

File Pic

File Pic


गडचिरोली।
शहर के मुख्य मार्ग पर निजी यात्री वाहनों के खड़े रहने से कई स्थानों में दुर्घटना के मामलों वृद्धि हुई है. संकीर्ण सड़कों, सड़क डिवाइडर, फुटपाथ पर दुकानों के अतिक्रमण से यात्री और नागरिकों को परेशानी हो रही है. क्रॉसिंग पर ट्रेवल्स खड़ी रहने से वाहनचालकों को कई दिक्ततों का सामना करना पड़ रहा है. गुरुवार को सुबह मुख्य मार्ग पर दो वाहनों के बिच दुर्घटना हुई जिससें यातायात प्रभावित हो गया था.

गत हफ्ते, यातायात पुलिस ने दुपहिया वाहनचालकों के खिलाफ अभियान चलाने पर मुख्य चौक में वाहनचालकों में दहशत का माहोल था. बिना लाइसेंस वाहन चलाने वालों से जुर्माना वसुला गया. इतना ही नहीं लाखों रुपया जुर्माने के तौर पर वसूल किया गया था. यातायात पुलिस के इस अभियान का स्वागत नागरिकों ने किया. लेकिन सड़क किनारे खड़े रहने वाले निजी यात्री वाहनों की ओर अनदेखी करने से परिवहन की समस्या निर्माण होने से दुर्घटनाओं में वृद्धि हो रही है.

दो वाहनों में टक्कर
ऐसा ही एक हादसा गुरुवार सुबह धानोरा मार्ग के सत्कार हॉटल के समीप क्रॉसिंग पर हुआ. कार क्र. एम.एच.34-ए.ए.-0137 ने टर्न लेते हुए वाहन क्र. एम.एच.31-एपी-6758 ने टक्कर मार दी. जिससें कार चालक का काफी नुकसान हुआ. यातायात ज्यादा नहीं होने से बड़ी दुर्घटना टली. यहाँ हमेशा निजी ट्रैवल्स खड़ी रहती है. जिससें चालकों को वाहन मोड़ने में दिक्कत होती है. वाहन को मोड़ने के लिए आगे पीछे करने की कसरत चालकों को करनी पड़ती है. यह समस्या आरमोरी बस स्टैंड, फुटका देऊल, धानोरा रोड, कॉम्प्लेक्‍स, चामोर्शी मार्ग पर दिखाई देती है. पुलिस के अनदेखी और वाहनचालकों की मनमानी से नागरिक तंग आ गए है. पुलिस इनके खिलाफ अभियान चलाये ऐसी मांग नागरिकों ने की है.

उपप्रादेशिक कार्यालय नाममात्र
छत्तीसगढ़, आंध्र प्रदेश सीमा को लगकर कई गाँवो में बिना नंबर के ट्रैक्टर, कमांडर का उपयोग हो रहा है. मुख्य मार्ग पर ओव्हरलोड वाहनों के परिवहन की ओर उपप्रादेशिक अधिकारियों की अनदेखी होने नागरिकों में रोष है. मार्ग सुरक्षा सप्ताह में कागजों के नियम का पालन करने की सलाह देनेवाले उपप्रादेशिक कार्यालय के अधिकारी यातायात समस्याओं की ओर नजर अंदाज कर रहे है.

“उन” वाहनों पर कार्रवाई क्यों नहीं?
जिले के मार्गों पर निजी वाहन यातायात की ओर पुलिस द्वारा नजर अंदाज कर वाहन रास्ते पर दौड़ रहे है. दैनिक परिवहन में क्षमता से अधिक यात्री यात्रा कर रहे है. लेकिन इन वाहनों पर कोई कार्रवाई नहीं होती. गडचिरोली, चामोर्शी, धानोरा, आष्टी, आल्लापल्ली, भामरागड, सिरोंचा, एटापल्ली, कारवाफा, पेढरी, मुलचेरा, घोट, आरमोरी, देसाईगंज, कुरखेडा, मालेवाडा, कढोली, वैरागड इन मार्ग पर अवैध परिवहन से एसटी महामंडल को आर्थिक नुकसान हो रहा है.