Published On : Sat, Nov 29th, 2014

चंद्रपुर : 25 हजार लेते निरीक्षक फंसा एसीबी के जाल में

ACB Chandrapur Ashok Kale
चंद्रपुर।
एक बिजली ठेकेदार से मनपा के निरीक्षक द्वारा 22 लाख 71 हजार 44 रुपये के बिल पास कराने के एवज में 25 हजार की रिश्वत मांगी गई. इसकी शिकायत के उपरांत निरीक्षक काले को रंगेहाथ गिरफ्तार कर लिया गया. इस कार्यवाही से कुछ पलों के लिए चंद्रपुर मनपा में हड़कम्प मच गया.

पुलिस उप अधीक्षक संजय पुरंदरे के अनुसार, फरियादी विद्युत ठेकेदार सरकारी कार्यालय के साथ चंद्रपुर शहर महानगरपालिका में विद्युत सामग्री के वायरिंग व मेंटेनेन्स का ठेका लेकर काम करता था. जिसे सन् 2010-11 में फरियादी ने चंद्रपुर शहर मनपा में इलेक्ट्रिक सामान के मेंटेनेन्स का ठेका मिला. उसके अनुसार उसने चंद्रपुर शहर के स्ट्रीट लाइटों की देखरेख व दुरुस्ती कर कुल 22,71,044/- का काम पूर्ण कर उस काम का देयक सन्  2011 में आरोपी विद्युत निरीक्षक अशोक काले, मनपा के समक्ष प्रस्तुत किया. उक्त देयक की मंजूरी के लिए भेजने हेतु आरोपी काले ने 25 हजार की रिश्वत मांगी. इससे खिन्न होकर ठेकेदार ने तत्काल एसीबी, चंद्रपुर से शिकायत दर्ज करवा दी.

मिली शिकायत के आधार पर 29 नवम्बर को एसीबी, चंद्रपुर की टीम ने मनपा से जाल बिछाकर निरीक्षक अशोक काले को 25 हजार रुपये स्वीकारते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया. चंद्रपुर शहर पुलिस ने मामला दर्ज कर आगे की जांच शुरू कर दी. इस कार्यवाही में एसीबी, चंद्रपुर के पुलिस उप अधीक्षक रोशन यादव, पुलिस निरीक्षक भुसारी व अन्य कर्मचारी उपस्थित थे.

इन दिनों रिश्वत के मामले बढ़ते देख पुलिस अधीक्षक श्री प्रकाश जाधव ने नागरिकों से ऐसे भ्रष्ट अधिकारियों को पकडऩे के लिए सीधे एसीबी के टोल फ्री नं. 1064 पर शिकायत दर्ज कराने सम्पर्क करने को कहा है.