Published On : Fri, Jan 23rd, 2015

मोर्शी में तनाव


कफ्र्यू सदृश्य स्थिति

Morshi
मोर्शी (अमरावती)।  शुक्रवार को साप्ताहिक बाजार में मवेशियों की खरीदी बिक्री के दौरान व्यापारियों और बजरंग दल कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हो गई. यह मामूली झडप कुछ ही देर में गंभीर रुप से दोनों गुटों व्दारा गाली गलौच पर पहुंच गई. जिससे परिसर में तनाव की स्थिति बनी. इस दौरान जयस्तंभ चौक, पेठपुरा और साप्ताहिक बाजारों के लगभग सभी दूकानों के शटर धड़ाधड़ नीचे गिर गये. जिसके चलते शहर में कफ्र्यू सदृश्य स्थिति निर्माण हो गई. स्थिति पर नियंत्रण पाने के लिए पुलिस महकमे ने अनन फनन में कड़ा बंदोबस्त लगाया. अमरावती से दंगा नियंत्रण दल भी मौके पर तैनात कर दिया गया है.

दोपहर के समय हर सप्ताह की तरह इस शुक्रवार को भी मवेशियों की खरीदी बिक्री हेतु आस पास के गांव व मध्यप्रदेश के सीमावर्ती शहरों से व्यापारी यहां आये. व्यापार जारी था कि इतने में बजरंग दल  के कुछ कार्यकर्ता ट्रक व कुछ गाडियां लेकर पहुंचे. उनका कहना था कि इस बाजार में गायों की बिक्री की जा रही है. इस समय व्यापारियों और बजरंग दल कार्यकर्ताओं में झड़प हो गई, लेकिन बजरंग दल के कार्यकर्ता अपनी गाडियों के साथ वहां से बैरंग लौट गये. कुछ ही देर बाद व्यापारियों के कुछ सदस्यों और कुछ अराजकता वादी लोगों ने जयस्तंभ पर जमा होकर बजरंग दल के खिलाफ जोरों से गाली गलौच किया. इस बात की जानकारी मिलते ही गुस्साएं बजरंग दल के दर्जन भर कार्यकर्ता लाठियों और वाहनों के साथ जयस्तंभ चौक पर पहुंच गये. स्थिति की गंभीरता को देखते हुए और शोरगुल को भापते हुए दूकानदारों ने अनन फनन में अपनी दूकान बंद कर दी. दोनों गुटों के सदस्यों ने एक दुसरे पर जमकर शाब्दीक हमले किये. इस समय दोनों गुटों के लोगों की संख्या सैकड़ों के ऊपर थी.

Morshi 2
पुलिस छावनि बना जयस्तंभ

सूचना पर एसडीपीओ ए.राजन, पीआइ गिरी अपने पूरे दल बल के साथ घटनास्थल पहुंचे. स्थिति को काबु में किया. कुछ ही देर में अमरावती ग्रामीण पुलिस का दंगा नियंत्रक दल भी घटनास्थल पहुंच गया. उल्लेखनिय है कि नागपंचमी के समय भी इसी परिसर में तनाव पूर्ण स्थिति बनी थी.

शराब दूकान बना सिरदर्द

लोगों का कहना है कि इस इलाके में एक बडी देशी शराब की दूकान है, जो कि हमेशा फसादों की मुल वजह बनती है. इसे बंद कराने के लिए शहरवासियों व्दारा कई प्रयास किये जा चुके है.