Published On : Wed, Oct 18th, 2017

ओप्पो के नए मोबाइल फोन भी हो रहे गर्म, सर्विस सेंटर में ग्राहक हो रहे परेशान

Advertisement

oppo-service-center
नागपुर: महंगे से महंगे मोबाइल फोन खरीदना और उसके बाद उसमें कोई खराबी आ जाए तो सभी को काफी परेशानी होती है. लेकिन सर्विस सेंटर में जाने के बाद भी फ़ोन न सुधारा जाए और बेतुके तर्क देकर बेरंग लौटाया जाए. तो क्या कहेंगे और कहा जाकर शिकायत करेंगे. यह सवाल ओप्पो कंपनी के मोबाइल खरीदनेवाले और इसको रिपेयर करनेवाले सर्विस सेंटर से आए गुस्साए ग्राहकों का है.

पूरे नागपुर शहर में ओप्पो मोबाइल फ़ोन का आनंद टॉकीज चौक पर स्थित एक ही सर्विस सेंटर है. जहां रोज सैकड़ो की तादाद में ग्राहक अपना फ़ोन लेकर पहुंचते हैं. इन ग्राहकों में 40 प्रतिशत ग्राहकों को फ़ोन गर्म होने की शिकायत है. लेकिन जब यह सर्विस सेंटर पहुंचते हैं और एग्जीक्यूटिव से फ़ोन गर्म होने की शिकायत करते हैं तो इन्हें कहा जाता है कि फ़ोन को अभी गर्म करके दिखाईए. ऐसे में ग्राहक ऐसा बेतुका सवाल सुनकर अचरज में पड़ जाता है. जबकि ओप्पो के इस सर्विस सेंटर में दो एसी लगी हुई है. ऐसे में सवाल यह उठता है कि आखिर 10 मिनट में व्यक्ति फ़ोन गरम करके कैसे दिखाए. कई ग्राहकों को केवल उनके मन की शांति के लिए बस फ़ोन को फॉर्मेट कर के देते हैं. लेकिन सच्चाई यह है कि फ़ोन फॉर्मेट करने से उसके गर्म होने का कोई सम्बन्ध नहीं होता.

इसको लेकर ओप्पो सर्विस सेंटर में फ़ोन सुधारने वाले लोगो ने कहा कि फ़ोन कितना प्रतिशत गर्म हो रहा है, इसकी जांच मीटर से की जाती है. 43 डिग्री तक जब फ़ोन गर्म होने लगता है तब वे उसे सुधारते हैं.

Advertisement

सर्विस सेंटर के टेक्निकल स्टाफ का कहना है कि फ़ोन की बैटरी कभी भी खराब नहीं होती और फ़ोन के गरम होने से बैटरी का कोई भी सम्बन्ध नहीं है.

ओप्पो सर्विस सेंटर में फ़ोन रिप्लेसमेंट करनेवाले और फ़ोन खरीदे 6 महीने से ज्यादा हो गए हो. ऐसे ग्राहकों से यह लोग पैसे लेकर उन्हें अक्सेसरीज़ बेचते हैं. लेकिन जिनके फ़ोन को 15 दिन या 6 महीने भी नहीं हुए ऐसे फ़ोन गर्म होने की शिकायत पर कोई भी दुरुस्ती नहीं की जाती. शहर में कई कंपनियों के सर्विस सेंटर हैं. जहां पर पहली बार अगर फ़ोन गर्म हुआ तो वे दुरुस्त करके देते हैं. लेकिन अगर दूसरी बार अगर यह समस्या आती है तो ग्राहकों को वारंटी पीरियड में बैटरी बदलकर दी जाती है.

राष्ट्रपाल झोड़ापे

लेकिन इस सर्विस सेंटर में केवल छह महीने तक ग्राहक को टालमटोल किया जाता है और बैटरी की वारंटी के बाद उससे पैसे लेकर बैटरी बदलकर दी जाती है. कंपनी और सर्विस सेंटर के इस पॉलिसी के कारण ओप्पो मोबाइल फ़ोन लेनेवाले ग्राहक अब फ़ोन लेकर पछताने लगे हैं.

रविनगर स्थित राष्ट्रपाल झोड़ापे ने बताया कि 2 महीने में पहले उन्होंने ओप्पो कंपनी का मोबाइल फ़ोन ख़रीदा था. खरीदने के पंद्रह दिन में ही फ़ोन गर्म हो रहा था. सर्विस सेंटर में जाने के बाद उन्होंने फ़ोन फॉर्मेट मारकर दे दिया गया. फिर भी गर्म होने की समस्या का समाधान नहीं हो पाया. सर्विस सेंटर में कार्यरत एग्जीक्यूटिव का कहना था कि दोबारा जाने पर सर्विस सेंटर में बताया गया कि 43 डिग्री से ज्यादा गर्म होने पर ही हम मोबाइल को सुधार सकते हैं.

सुरेंद्र गेडाम

तो वहीं शंकर नगर के सुरेंद्र गेडाम का कहना है कि फ़ोन ख़रीदे हुए चार महीने हो चुके हैं. फ़ोन गर्म होने की समस्या है. लेकिन जब फ़ोन सुधारने के लिए ओप्पो सर्विस सेंटर गया तो उन्होंने बेतुका प्रश्न किया, उन्होंने कहा कि फ़ोन दस मिनट में गर्म करके दिखाओ. जबकि सर्विस सेंटर में दो एसी लगी हुई है. सुरेंद्र का कहना है कि अब तक फ़ोन दो बार जाने के बाद भी सर्विस सेंटर में केवल फ़ोन को फॉर्मेट मारकर दिया जा रहा है. लेकिन अब तक बैटरी बदलकर गई है.

इस बारे में ओप्पो सर्विस सेंटर के टेक्निकल असिस्टेंट चंद्रकांत ठेंगडी ने बताया कि फ़ोन कई कारणों से गरम होता है. जरूरी नहीं कि फ़ोन गर्म होने की वजह केवल बैटरी हो. कई बार ग्राहकों की ओर से एक साथ कई अप्लीकेशन शुरू किए जाते हैं. जिसके कारण भी फ़ोन गर्म होता है. उन्होंने यह भी बताया कि 43 डिग्री फ़ोन का तापमान होने पर वे कुछ पार्ट्स रिप्लेसमेंट करते हैं.

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement