Published On : Fri, Jun 29th, 2018

अफीम, चरस, हेरोइन, कोकीन को लेकर सजग रहें विद्यार्थी फॉरेंसिक विद्यार्थियों का नारकोटिक्स सेल ने किया मार्गदर्शन

Advertisement

नागपुर: शहर के शासकीय न्यायसहायक विज्ञान संस्था में शुक्रवार को नशीले पदार्थों ( ड्रग्स ) पर एनडीपीएस सेल क्राइम ब्रांच द्वारा मार्गदर्शन का आयोजन किया गया था. इस कार्यक्रम में नागपुर एनडीपीएस सेल क्राइम ब्रांच विभाग के पुलिस निरीक्षक आर.डी.निकम मौजूद थे. इस दौरान फॉरेंसिक साइंस के विद्यार्थियों को पुलिस निरीक्षक निकम ने नशीले पदार्थों के बारे में जानकारी दी. साथ ही इसका व्यापार, खरीद फरोख्त, सेवन के दुष्परिणाम, क़ानूनी सजा के बारे विद्यार्थियों को जानकारी दी. विद्यार्थियों की जानकारी के लिए अफीम, चरस, गांजा, कोकीन भी सैंपल के रूप में लाई गई थी. जिसे विद्यार्थियों को दिखाया गया. इस समय निकम ने बताया कि सरकार ने जिस पर पाबंदी लगाई है वह ड्रग्स है. देश में 238 प्रकार के ड्रग्स पर पाबंदी लगी हुई है. ड्रग्स दो प्रकार के होते है. एक नेचुरल ड्रग्स और एक आर्टिफीसियल ड्रग्स. निकम ने बताया कि आज के दिनों में कॉलेज के कुछ विद्यार्थी भी ड्रग्स की लत में पड़ चुके हैं. उन्होंने कुछ उदहारण भी विद्यार्थियों के सामने रखे. गांजा दक्षिण भारत से शहर में आता है. ब्राउन शुगर राजस्थान से आती है जबकि चरस पाकिस्तान से आती है. मेडिकली प्रोडक्ट करने के लिए कुछ ड्रग्स के लिए सरकार ने लाइसेंस दिए हुए भी है. किस तरह से आरोपियों को पकड़ा जाता है. उनका कहना है कि कानून में ड्रग्स को लेकर कड़े नियम हैं. जिसमें मौत का भी प्रावधान है. उन्होंने बताया कि जितने भी ड्रग्स से सम्बंधित विद्यार्थियों से वे मिले हैं वे सभी अच्छे घरों से सम्बंधित है. ड्रग्स की कार्रवाई करने से लेकर उसको नष्ट करने की प्रक्रिया भी उन्होंने विद्यार्थियों को बताई. इस समय मंच संचालन फॉरेंसिक साइंस की फाइनल ईयर की छात्रा श्वेता उमरे ने किया. कार्यक्रम का आयोजन सहायक प्राध्यापक नीति कपूर बढिये ने किया.

शासकीय न्यायसहायक विज्ञान संस्था के डायरेक्टर डॉ. जयराम खोब्रागडे ने इस कार्यक्रम के बारे में बताया कि विद्यार्थियों के लिए ऐसे कार्यक्रमों का आयोजन हमेशा किया जाता है जिसमें विद्यार्थियों को जानकारी मिलती है. शहर के सभी विभागों से शासकीय न्यायसहायक विज्ञान संस्था संपर्क में रहती है. आनेवाले दिनों में ओर भी मार्गदर्शन कार्यक्रमों का आयोजन संस्था में होगा.

Advertisement
Advertisement

इस कार्यक्रम में फॉरेंसिक साइंस विभाग प्रमुख आशीष बढिये, सहायक प्राध्यापक नीति कपूर, एनडीपीएस सेल क्राइम ब्रांच के एपीआय दिलीप चंदन, सतीश पाटिल समेत सभी विद्यार्थी मौजूद थे.

Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement