Published On : Wed, Feb 13th, 2019

राय उद्योग समूह ने फोड़ी ट्रंक लाइन, बगैर अनुमति के जारी थी निर्माणकार्य

नगर रचना विभाग व मंगलवारी ज़ोन की संदिग्ध भूमिका पर उठाया नगरसेविका ममता सहारे ने सवाल

नागपुर: एलआईसी चौक समीप कामठी मार्ग पर बंद भारत सिनेमा की जगह पर राय उद्योग समूह (स्क्रोल विनिमय प्राइवेट लिमिटेड,निदेशक लक्षमण सावंत ) दो मंजिली पार्किंग सह बहुमंजिली व्यवसायिक संकुल का निर्माण कार्य शुरू किया था कि जमीन के नीचे से गुजर रही ट्रंक लाइन फोड़ दी गई.ट्रंक लाइन फूटते ही स्थानीय नगरसेविका हरकत में आई तो मनपा नगर रचना विभाग ने सफाई दी कि अभी तक उक्त समूह द्वारा पेश की नक्शा को मंजूरी नहीं दी गए.नगरसेविका विभाग के जवाब से और तमतमा गई व पक्षनेता के सलाह से विभाग से पुनः सवाल किया कि गैरकानूनी रूप से जारी निर्माणकार्य से हुए नुकसान की जिम्मेदार पर की गई कार्रवाई अविलंब उपलब्ध करवाए। तय मुद्दत में जवाब नहीं मिलने पर नगरसेविका मनपा आमसभा में मामला उठाएंगी।

याद रहे कि उक्त निर्माण कार्य से होने वाली संभावित नुकसान की शिकायत स्थानीय नगरसेविका ममता सहारे से आसपास के रहवासियों ने की थी,सहारे ने मनपा के मंगलवारी ज़ोन के स्वास्थ्य विभाग के ध्यान में लाकर उचित कार्रवाई की मांग की थी.जोन के सेनिटरी निरीक्षक गजभिये ने घटनास्थल पर उपस्थित बिल्डर के कर्मियों को सकारात्मक सूचना/सलाह देने की कोशिश की तो बिल्डर के तथाकथित कर्मी/ठेकेदार भड़क गए और निरीक्षक को घटनास्थल छोड़ने का निर्देश दिए.

इसके बाद बिल्डर द्वारा तैयार करवाए गए नक़्शे में बेसमेंट में दो मंजिला पार्किंग के लिए खुदाई शुरू किये।इसी दरम्यान जमीन के नीचे से गुजर रही ट्रंक लाइन को फोड़ दी गई.इसके फूटते ही मामला आग की तरह सार्वजानिक हो गया.

मामला प्रकाश में आते ही नगरसेविका सहारे घटना स्थल पर पहुंची और मंगलवारी ज़ोन को काम बंद करने का निर्देश दिया।ज़ोन के संबंधितों ने बिल्डर को निर्माणकार्य शुरू करने के पूर्व नई ट्रंक लाइन बिछाने की सूचना दी.

इसी बीच नगरसेविका सहारे ने मनपा के नगर रचना विभाग को पत्र लिख मामले की खुलासा करने का निर्देश दिया।कल मंगलवार की शाम नगर रचना विभाग के प्रमुख गावंडे ने सहारे को लिखित जवाब दिया कि उक्त बिल्डर ने ८ जनवरी २०१९ को नक्शा मंजूरी का आवेदन किया था.लेकिन आजतक उक्त प्रस्ताव को मंजूरी नहीं दी गई.क्यूंकि उक्त भूखंड नागपुर मेट्रो रेल कॉरिडोर(२० मीटर के अंदर ) अंतर्गत आने से एनएमआरसी की ना-हरकत प्रमाणपत्र हेतु प्रस्ताव मेट्रो प्रशासन के समक्ष भेजा हैं.

नगर रचना विभाग प्रमुख गावंडे के जवाब से असंतुष्ट नगरसेविका सहारे ने पक्षनेता के निर्देश पर पुनः नगर रचना विभाग प्रमुख को कल ही पत्र भेज लिखित जानकारी मांगी कि गैरकानूनी रूप से जारी निर्माणकार्य से हुए नुकसान की जिम्मेदार पर की गई कार्रवाई अविलंब उपलब्ध करवाए। तय मुद्दत में जवाब नहीं मिलने पर नगरसेविका मनपा आमसभा में मामला उठाएंगी।

उल्लेखनीय यह हैं कि उक्त अवैध निर्माणकार्य और उससे हुए नुकसान में मनपा मंगलवारी ज़ोन के वार्ड अधिकारी,नगर रचना विभाग के जिम्मेदार अधिकारी की मिलीभगत की चर्चा नगरसेवकों में हैं.मनपायुक्त से नगरसेविका सहारे ने मांग कि हैं कि मनपा और शहर को नुकसान पहुँचाने वाले बिल्डर का प्रस्ताव ना मंजूर करें और सम्बंधित दोषी अधिकारी/कर्मी को निलंबित करें।अन्यथा आंदोलन का रुख अख्तियार करने पर मजबूर होना पड़ेंगा।दूसरी ओर मनपा के दिग्गज अधिकारी बाहरी होने का फायदा उठाकर स्थानीय अधिकारी/कर्मी ग़ैरकृतों को अंजाम दे रहे हैं.