Published On : Wed, Feb 13th, 2019

कार्यकारिणी घोषित होते ही शिवसेना में मची भगदड़

नवनिर्वाचित पदाधिकारी व शिवसैनिकों ने किया पक्ष त्याग

नागपुर: लंबे अंतराल एवं ५ संपर्क प्रमुख बदले जाने के बाद शहर शिवसेना की जम्बो कार्यकारिणी घोषित की गई.जिसमें शहर के अनुभवी,कर्मठ शिवसैनिकों को दरकिनार कर नई कार्यकारिणी तैयार की गई व सक्षमों का डिमोशन तो असक्षमों को कद से बड़ी जिम्मेदारी थमाई गई.इसकी दूसरी वजह यह भी नज़र आई कि कुछ घाघ स्थानीय सेना के नेताओं ने उक्त कार्यकारिणी के लिए षड्यंत्र रचा ताकि पक्ष और बाहरी का सम्पूर्ण ध्यान उन तक सिमित रहे.

याद रहे कि विगत सप्ताह शहर शिवसेना की लम्बी कार्यकारिणी घोषित हुई.सिर्फ स्थानीय सेना नेताओं के फेर में मध्य नागपुर की कार्यकारिणी अटक गई.पक्ष श्रेष्ठ और स्थानीय नेताओं के नीत से छुब्ध शिवसेना के पदाधिकारी और शिवसैनिकों ने पक्ष त्यागना शुरू कर दिया।

इसकी शुरुआत दक्षिण पश्चिम विधानसभा क्षेत्र की महिला अध्यक्षा संजना देशमुख और शहर उपप्रमुख रजत देशमुख ने की,इनके साथ ही सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने शिवसेना छोड़ सभी ने विधिवत शहर कांग्रेस अध्यक्ष विकास ठाकरे के नेतृत्व को स्वीकारते हुए कांग्रेस में प्रवेश किया। पक्ष छोड़ने वाले शिवसैनिकों ने कहा कि सेना के नेताओं ने उनका शोषण किया,वक़्त पड़ने पर न साथ दिया और न ही प्रोत्साहित किया। कांग्रेस में प्रवेश करने वालों में अमरजित मुजुमदार, राकेश शिवहरे, सचिन बनकर, अभिमन्यु बांगर, मंदार चिखलीकर, अनंता लाभे, महेश हिवरखेडकर, हरीश जोगळेकर, प्रशांत विजयकर, समीर सुरगळीकर, मुकेश जाधव, नीरज जोशी, माधवी मुडके, भानू कुर्यवांशी, हेमा गुप्ता, सप्ना गुप्ता, मीना शिरास, विशाखा फेंडर, रोहित राजे, अब्दुल रशीद, शाहरुख खान नसीर खान, अदनान अली, साहिल अली, दानिश अली, ओसामा शेख, इकबाल अली, सलमान खान, फराज अंसारी,

प्रसंगी प्रामुख्याने शहर कॉंग्रेस चे पंकज थोरात, आशिष नाईक, पंकज निघोट, प्रसन्ना जिचकार, किशोर उमाठे, अरविंद वानखेडे, प्रशांत कापसे, प्रा. दिनेश बानाबाकोडे, कुमार बोरकुटे, अभय सोमकुले, निखील धांडे, आकाश तायवाडे, वैभव काळे, रमेशभाऊ राऊत, राजू ताबुतवाले, प्रेम भांदककर आदि थे.