Published On : Fri, Aug 28th, 2020

कानून की धज्जिया उड़ाते हुवे बंद किया जा रहा है बच्चो का ऑनलाइन शिक्षण -अग्रवाल

विदर्भ पैरेंट्स असोसिएशन के अध्यक्ष श्री संदीप अग्रवाल ने बताया की शहर की प्रसिद्ध स्कूले फीस वसूली के लिए बच्चो की ऑनलाइन शिक्षण बंद करने का सहारा ले रहे है। श्री अग्रवाल ने बताया आये दिन उनके पास विभिन्न स्कूलों की शिकायते प्राप्त हो रही है जिसमे स्कूलों द्वारा ऑनलाइन
शिक्षण बंद करने की शिकायत है,उन्होंने बताया की सरकारी दिशानिर्देश के बावजूद भी इस प्रकार का शर्मनाक कृत्य स्कूल संचालक कर रहे है जो क़ानूनी रूप से गलत है और प्रशासन आँखे मुंड कर बैठा है।

देश में शिक्षा के अधिकार के कानून के अंतर्गत देश के सभी बच्चो को शिक्षा का मुलभुत अधिकार दिया गया है लेकिन सभी को शिक्षा तो दूर है जबकि जिनकी शिक्षा चालू है उन्हें भी फ़ीस वसूली हेतु रंगदारी से बंद किया जा रहा है। आज विदर्भ परेंट्स के कार्यालय में CDS स्कूल सुभाष नगर के पालकगण अपनी शिकायत लेकर आये पालकगणो में अपनी शिकायत में लिखा है की स्कूल ने उनके बच्चो की ऑनलाइन शिक्षण फीस हेतु बंद कर दिए है तथा फीस भरने हेतु दबाव बना रहे है जो सरासर गलत है।

उपरोक्त शिकायत के बाद श्री अग्रवाल ने शिक्षण विभाग में बात की तो सभी अधिकारी अपना पल्ला झाडते रहे तथा एक दूसरे पर शिकायत ढकेलते रहे और बार-बार ०८/०५/२०२० को मुंबई हाई कोर्ट द्वारा दिए गए स्थगनादेश की बात कहकर कारवाही से बचते रहे। श्री अग्रवाल ने कहा की ०८/०५/२०२० का स्थगनादेश का आदेश है वह केवल फीस बढ़ोत्तरी हेतु है बल्कि उसके बाद शिक्षण विभाग ने समय-समय पर विभिन्न आदेश निकले है लेकिन उसकी अंमलबजावणी की कोई भी बात अधिकारी नहीं कर रहे है जबकि ३/०७/२०२० के उपसंचालक शिक्षण विभाग के आदेश में स्पष्ट लिखा है की फीस हेतु किसी भी बच्चे का ऑनलाइन शिक्षण स्कूल बंद नहीं कर सकती और फीस हेतु दबाव नहीं बना सकती है

इस आदेश का भी उल्लंघन खुले आम किये जा रहा है ,उन्होंने शिक्षण विभाग के अधिकारियों को चेताया की अगर इस प्रकार के ग़ैरक़ानूनी काम अगर स्कूल और विभाग करेगा तो पालक चुप नहीं बैठेंगे श्री अग्रवाल ने कहा की जल्द से जल्द CDS स्कूल सुभाष नगर ,हिगना रोड अपने सभी बच्चो का ऑनलाइन शिक्षण शुरू करे अन्यथा पालको को अपनी मांगो को लेकर तीव्र आंदोलन करना पड़ेगा। श्री अग्रवाल की मांगो का समर्थन मनीष गुप्ता ,संजय ठाकरे,सारंग पवार ,रामराव टेटे ,सचिन भगत ,उज्वल भगत ,संजय नेउले आदि ने किया