Published On : Thu, May 14th, 2020

सावधान! ऑनलाइन शराब डिलीवरी के फेर में कहीं हो ना जाएं ठगी के शिकार!

नागपुर: नागपुर महानगरपालिका आयुक्त तुकाराम मुंढे की ओर से शहर में शराब की ऑनलाइन डिलीवरी की अनुमति दिए जाने के बाद से अब सोशल मीडिया पर ठग सक्रिय हो गए हैं।उन्हें अब लोगों को ठगने का एक और आसान जरिया मिल गया है। दरअसल, पिछले कुछ समय से सोशल मीडिया के माध्यम से ऑनलाइन ठगी का क्रम जारी हैं। इस दफे कोरोना वाइरस के कारण शराब की ऑनलाइन डिलेवरी का झांसा दिया जा रहा। कई लोग इस ठगी का शिकार भी हुए हैं लेकिन खुद शर्मिंदगी से बचने के लिए पुलिस में शिकायत करने से बच रहे हैं।

ज्ञात हो कि केंद्र के मार्गदर्शन पर राज्य सरकार ने ऑनलाइन शराब की बिक्री को मंजूरी प्रदान की। इसके बाद विभिन्न शहरों के वाइन शॉप के फोटो और पते फेसबुक पर पोस्ट कर फर्जी नंबर दिए जा रहे हैं। इस पर ऑनलाइन डिलीवरी का लालच देकर लोगों को फांसा जा रहा है।

मांगते हैं 50% एडवांस!
इनमें से कुछ नंबर पर सम्पर्क करने पर जवाब मिला कि वे ऑनलाइन सेवा तब देंगे जब उन्हें 50% भुगतान ऑनलाइन करने पर करने का वादा किया जा रहा। भुगतान करने के लिए फ़ोन पे,गूगल पे और पेटीएम का उपयोग करने का निर्देश दिया जा रहा। इनका यह भी कहना है कि ग्राहक उनके व्हाट्सएप्प पर अपने क्षेत्र का लोकेशन भेजें। इन्हें जल्दबाजी इतनी रहती हैं कि तुरंत भुगतान करने के लिए दबाव बनाते और कहते जल्दी कीजिये काम बहुत हैं।

पुराने चोर, नई हेरा फेरी
उल्लेखनीय यह हैं कि यह ऑनलाइन ठग का समूह वही है जो ऑनलाइन सामग्री,ऑनलाइन लोन, आपके घरों या खाली जगह पर मोबाइल टावर लगाने और मासिक लाखों में कमाई करवाने का दावा कर 2000 से लेकर 12000 तक ऑनलाइन ठगी करता हैं। इतना ही नहीं ये गफलत में आपके बैंक अकाउंट की गुप्त जानकारी मांग खाता खाली करने के काम मे भी सक्रिय हैं। इनके झांसे में आने के बाद आपका नंबर ब्लॉक कर दिया जाता हैं।


पहले जांच परख कर लें
शहर के नागरिकों से अपील है कि ऑनलाइन आर्थिक व्यवहार करने के पूर्व जांच परख लें, तभी व्यवहार करें। पुलिस प्रशासन से भी गुजारिश हैं कि वे ऐसे ठगों पर नकेल कसने के लिए सख्त कदम उठाए।