Published On : Thu, Sep 18th, 2014

मूल : एक योजना बदल सकती है हजारों किसानों की जिंदगी


वाघडोह लिफ्ट इरिगेशन परियोजना का काम शुरु करने की मांग

मूल (चंद्रपुर)। विरव्हा-सरडपार के बीच स्थित उमा नदी पर वाघडोह नाले में अगर लिफ्ट इरिगेशन योजना क्रियान्वित कर दी जाए तो करीब 60 हजार हेक्टेयर जमीन पर सिंचाई हो सकेगी और इस इलाके के कोई दर्जन भर गांवों के किसानों का जीवन सुधर जाएगा. मगर न तो सिंचाई विभाग को इस परियोजना को पूरा करने की जल्दी है और न ही जनप्रतिनिधियों को.

राजोली, सरडपार, विरव्हा, मुरमाड़ी, डोंगरगांव, गांगलवाड़ी, चिखली, चितेगांव, बेलगाटा, मोरवारही, कन्हालगांव सहित अनेक गांवों के किसान फिलहाल खेती के लिए ‘ऊपर वाले’ के भरोसे ही रहते हैं. बरस जाए तो खुश, अन्यथा हाथ पर हाथ धरे बैठे रहो. ऐसे में वाघडोह की लिफ्ट इरिगेशन परियोजना इन किसानों का जीवन बदल सकती है. पिछले दिनों इस योजना का सर्वेक्षण किया गया. जनप्रतिनिधियों ने भी इसका निरीक्षण किया और सिंचाई विभाग को एक प्रस्ताव बनाकर सरकार को भेजने का निर्देश भी दे दिया. वाघडोह नाले में गर्मी के दिनों में भी भरपूर पानी रहता है. इसलिए इस स्थल पर लिफ्ट इरिगेशन योजना बेहतर तरीके से कार्यान्वित हो सकती है. इस क्षेत्र के सैकड़ों किसानों की मांग है कि सिंचाई विभाग जितनी जल्दी हो सके, योजना का काम शुरू करे. मूल पंचायत समिति के उपसभापति गजानन वलकेवार, गांव के प्रतिष्ठित नागरिक सुरेश ठिकरे, आनंद ठिकरे, विजय पाकमोड़े ने इस क्षेत्र के सांसद, विधायकों और पालकमंत्री से इस तरफ ध्यान देने की मांग की है.

File pic

File pic

Farmer