Published On : Thu, Sep 12th, 2019

गोंदिया: घर में अकेली बुजुर्ग महिला की गला दबाकर हत्या, आभूषण गायब

घर आने वाले परिचित युवक पर शक, पुलिस ने संदिग्ध को हिरासत में लिया

गोंदिया: घर में अकेले रह रहे बुजुर्ग कितने सुरक्षित और महफूज है? इसी की एक बानगी गोंदिया जिले की अर्जुनी मोरगांव तहसील के ग्र्राम वड़ेगांव ( रेलवे) में बुधवार 11 सितबंर को उजागर हुई।

यहां अकेली रह रही एक 75 वर्षीय बुजुर्ग महिला की गला दबाकर निर्मम हत्या कर दी गई।

गौरतलब है कि, अकेले रहने वाले बुजुर्गों को सबसे बड़ा खतरा चोरी, सेंधमारी या लूट से होता है? इस दौरान कई बार विरोध करने या फिर पहचाने होकर पकड़े जाने के डर से अथवा पैसों और आभूषणों की लालच में आकर अपराधी उनकी हत्या भी कर देते है। इस मामले में भी कुछ एैसी कहानी सामने आ रही है।

बहरहाल पुलिस ने मृतक महिला के फिर्यादी बेटे प्रशांत रामनु सिल्लेवार (32 रा. मिरानगरी अर्जुनी मोरगांव) की शिकायत पर घर में बचपन से आना-जाना करने वाले तथा व्यसन की लत से ग्रस्त एक 30 वर्षीय ग्राम वड़ेगांव निवासी युवक के खिलाफ धारा 302, 394, 452 का मामला दर्ज करते हुए उसे हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है।

रात को हुआ कत्ल, सुबह घर का दरवाजा नहीं खुला

पुलिस सूत्रों से प्राप्त जानकारी नुसार अर्जुनी मोरगांव तहसील के ग्र्राम वड़ेगांव ( रेलवे) निवासी बुजुर्ग महिला लक्ष्मीबाई हनुमया सिल्लेवार के मकान में किसी ने 10 सित. के रात अनाधिकृत प्रवेश कर वारदात को अंजाम दिया। सुबह जब 8 बजे तक वृद्ध महिला के घर का दरवाजा नहीं खुला तो पड़ोसियों को शंका उत्पन्न हुई और उन्होंने जब द्वार खोला तो बुजुर्ग महिला की लाश कमरे में पड़ी दिखायी दी तथा घर के कमरे में रखी लकड़ी की अलमारी का ताला टूटा और सामान बिखरा पड़ा था।

बुजुर्ग महिला की गला दबाकर निशृंस हत्या करने के बाद आरोपी, उसके शरीर पर धारण जेवर तथा अलमारी से आभूषण लेकर फरार हो गया।
पड़ोसियों ने घटना की जानकारी पुलिस को दी। मौका-ए-वारदात पर पहुंचे देवरी के उपविभागीय पुलिस अधिकारी प्रशांत ढोले तथा अर्जुनी मोरगांव थाना निरीक्षक तदोले की मौजुदगी में स्पॉट पंचनामा किया गया।

पुलिस ने आरोपी की तलाश हेतु डॉग स्कॉट तथा फ्रिंगर प्रिन्ट एक्सपर्ट की मदद ली।
घटित प्रकरण पर जानकारी देते डीवायएसपी प्रशांत ढोले ने बताया, बुजुर्ग महिला का एक बेटा और बहु है जो काम के सिलसिले में बाहर रहते है। संदिग्ध आरोपी का बचपन से ही बुजुर्ग महिला के घर आना-जाना है।

अभी भी संदिग्ध से इंट्रोग्रेशन जारी है लेकिन मर्डर उसी ने किया है ? इस बात की कबूली नहीं हुई है। आरोपी शराब पीने का आदि है इसलिए इनिशियल स्टेज (प्राथमिक जांच) में यहीं मान सकते है कि, सोना वगैरह भी गायब है तो , हो सकता है आरोपी सोना लेकर गायब हुआ , और उसने कहीं उसे छुपा दिया ? एैसा संशय उत्पन्न हो रहा है। बहरहाल हत्या का मकसद लूटपाट है या कुछ ओर ? यह अभी बता नहीं सकते जब तक आरोपी कन्वे नहीं करता? लिहाजा पूछताछ जारी है।

रवि आर्य