Published On : Thu, Apr 13th, 2017

अधिकारी एसी में और छात्र गर्मी में पढ़ने को मजबूर


नागपुर:
राष्ट्रसंत तुकडोजी महाराज नागपुर विश्वविद्यालय भले ही छात्रों के लिए विभिन्न योजनाएं चलाने का दावा करता हो। नागपुर विद्यापीठ को डिजिटल बनाने के लिए भी अथक प्रयास विद्यापीठ प्रशासन की ओर से किए जा रहे हों। लेकिन जब मूलभूत सुविधाओं से ही विद्यार्थियों को वंचित रहना पड़े तो विश्वविद्यालय के इन तमाम दावों की पोल खुल जाती है।

दरअसल अमरावती रोड स्थित कैंपस में पी.वी. नरसिम्हाराव ग्रंथालय भवन है और उसी से सटकर ग्रंथालय है। यहां रोज बड़ी संख्या में विद्यार्थी पढ़ाई करने पहुंचते हैं। लेकिन अप्रैल महीना की झुलसा देनेवाली गर्मी में भी छात्रों के अध्ययन के लिए कूलर तक के इंतेजाम नहीं किए गए। इससे विद्यार्थी इस भीषण गर्मी में भी पढ़ाई करने के लिए मजबूर हैं। हालांकि यहां फैन लगे हुए हैं लेकिन वे ठंडी हवा के बजाए लू की गर्म लपटें छोड़ती है। जिससे दोपहर में अधिकतर इसे बंद ही रखा जाता है।

इस समस्या को लेकर यहां पढ़ रहे विद्यार्थियों से चर्चा की गई तो कई उलझनें सामने आने लगीं। विद्यार्थी स्नेहल वाघमारे ने कहा कि कैंपस में जितने भी विभाग हैं, सभी में फरवरी से ही कूलर शुरू कर दिए जाते हैं। साथ ही इसके सभी विभागो में विभाध्यक्षों के केबिन में एयर कंडीशन भी लगाए गए हैं। विभाग के प्रमुख और कर्मचारी एसी और कूलर की ठंडी हवा में मजे कर रहे हैं। लेकिन जो विद्यार्थी यहां पढ़ रहे हैं, उनके लिए मूलभूत सुविधा भी नहीं दी जा रही है।


रूपेश वनसिंघे ने बताया कि यहां गर्मी में पढ़ाई करने में काफी परेशानी होती है। गर्मी के कारण लाइब्रेरी में पढ़ पाना मुश्किल हो रहा है। तो वहीं हर्षल चौधरी ने जानकरी देते हुए बताया कि सिटिंग रूम में मार्च महीने से ही गर्मी होने लगती है। लेकिन इसकी पूरी जानकारी लाइब्रेरी के मुख्य अधिकारी को है, बावजूद इसके वे यहां कूलर की व्यवस्था नहीं कर पा रहे हैं।

इसी लाइब्रेरी में पढ़नेवाले प्रणय दाते और नूतन वैद्य ने बताया कि विद्यार्थी को अगर थोड़ी भी सुविधाएं मिली तो उनको पढ़ाई करने में आसानी होती है। लेकिन विश्वविद्यालय प्रशासन के कारण हमारी पढ़ाई खराब हो रही है। सभी मौजूद विद्यार्थियों ने विश्वविदेयालय से जल्द से जल्द लाइब्रेरी के सिटिंग रूम में कूलर लगाने की मांग की है।