Published On : Tue, Jan 9th, 2018

पाबंदी के बावजूद नायलॉन मांजे से उड़ रही पतंगें

Nylon Manja
नागपुर:  कुछ दिन बाद सक्रांत है. जिसे देखते हुए शहर में पतंगें भी अभी से उड़नी शुरू हो चुकी है. पीछले वर्ष से नायलॉन मांजे पर प्रतिबंध लगा हुआ है. बावजूद इसके शहर में कई जगहों पर नायलॉन मांजा बिक रहा है. कहीं पर भी अब तक ऐसा दिखाई नहीं दिया है कि सादे मांजे से पतंग के शौकीन पतंग उड़ा रहे हैं. सभी नायलॉन मांजे का ही इस्तेमाल कर रहे हैं. हाईकोर्ट समेत नॅशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल की ओर से भी प्लास्टिक कोटेड मांजे पर प्रतिबंध है.

दुकानदार और व्यापारियों को केवल सादा धागा ही बेचने के आदेश है. लेकिन फिर भी शहर के विभिन्न परिसरों में नायलॉन मांजा बेचा और ख़रीदा जा रहा है. पीएफए समेत कई संगठनों ने भी पुलिस विभाग को नायलॉन मांजे की अवैध बिक्री पर सख्त कार्रवाई करने के लिए निवेदन भी दिया है. बावजूद इसके शहर में नायलॉन मांजे की बिक्री पर रोक लगाने में पुलिस और नागपुर महानगर पालिका नाकाम साबित होती दिखाई दे रही है. कुछ वर्षों पहले नायलॉन मांजे से लोग अनजान थे और यह कहीं बिकता भी नहीं था और सादे मांजे से ही पतंग उड़ानेवाले अपना शौक पूरा करते थे. लेकिन हाल ही के कुछ वर्षों में इसका उपयोग लोग ज्यादा प्रमाण में करने लगे हैं. जिसके कारण पर्यावरण के साथ साथ दूसरों की जान से भी यह पतंग शौकीन खिलवाड़ करते हुए नजर आ रहे हैं.

हर साल नायलॉन मांजे के कारण कई जाने भी गई है तो वहीं अब तक कई जख्मी भी हुए हैं. इस मांजे के कारण सैकड़ों पक्षियों की भी मौत हो चुकी है. पक्षी विशेषज्ञों ने भी अपनी नाराजगी पहले ही जताई थी. मांजे के डर के कारण कई वाहनचालक इस एक महीने खौफ के साए में वाहन चलाते हैं. खुद से कार्रवाई करने की पहल भी पुलिस विभाग की ओर से बहोत कम दिखाई देती है. जब कोई एनजीओ इसकी शिकायत करता है, तभी यह कार्रवाई दिखाई देती है. जिसके कारण भी दुकानदारों और विक्रेताओं के हौसले बुलंद होते हुए दिखाई दे रहे हैं.