Published On : Tue, Sep 3rd, 2019

इंदिरा गांधी गवर्नमेंट कॉलेज ऐंड हॉस्पिटल में लगी आग, नर्स की समझदारी ने बचाई 9 नवजात शिशुओं की जान

नागपुर महाराष्ट्र के नागपुर के एक अस्पताल में नर्स की सूझबूझ की वजह से बड़ा हादसा टल गया और 9 नवजात शिशुओं की जान बच गई। जानकारी के मुताबिक, शहर के इंदिरा गांधी गवर्नमेंट कॉलेज ऐंड हॉस्पिटल में शुक्रवार की रात आग लग गई।

इस दौरान 47 वर्षीय नर्स ने जंबो ऑक्सिजन सिलेंडर को बंद कर अस्पताल में बड़ा नुकसान होने से बचा लिया। शॉर्ट सर्किट से लगी आग अस्पताल में काम करने वाली 47 वर्षीय नर्स सविता इखर शुक्रवार रात नाईट ड्यूटी में थीं। वह पोस्ट बर्थ यूनिट में अकेले तैनात थीं।

तभी शॉर्ट सर्किट की वजह से अस्पताल में आग लग गई और तेजी से धुआं भरने लगा। सविता ने फौरन समझदारी दिखाते हुए सबसे पहले सभी नवजात शिशुओं को सुरक्षित जगह पर पहुंचाया। उस आपातकालीन स्थिति में भी उन्होंने बच्चों की पहचान के लिए लगे टैग भी उन पर लगाए ताकि बाद में उन बच्चों की पहचान को लेकर समस्या न खड़ी हो।

अस्पताल में नहीं थे आग से बचाव के उपकरण सविता ने इसके बाद जंबो ऑक्सिजन सिलिंडर को बंद कर दिया। इससे अस्पताल को आग से ज्यादा नुकसान नहीं हुआ। सविता ने बताया कि रात की शिफ्ट के दौरान शॉर्ट सर्किट से अस्पताल में आग लग गई। इसके बाद उन्होंने सबसे पहले नवजात बच्चों को उनके टैग के साथ सुरक्षित जगह पर पहुंचा दिया। उन्होंने बताया कि अस्पताल में फायर अलार्म नहीं था और आग से बचाव के उपकरण भी मौजूद नहीं थे।