Published On : Sat, Apr 18th, 2015

मौदा : एनटीपीसी में ठेकेदारों और बिक्रेताओं का पंजीकरण शुरू


31 मई तक सूचीबद्ध होने का मौका 

mauda
मौदा (नागपुर)। एनटीपीसी भारत की सबसे बड़ी विद्युत उत्पादक कंपनी है. हर वर्ष कंपनी के साहित्यों की देखरेख, संचालन और अनुरक्षण के लिए पुरवठादार की ओर से दो हजार करोड रूपये का साहित्य खरीदते है और 1600 करोड़ का ठेका देते है. एनटीपीसी अब तक निविदा टेंडर निकालकर ये सामग्री और सेवा ले रही है. उसका फायदा कुछ गिने चुने बिक्रेताओं को मिलता था तथा समय, गुणवत्ता और अनिश्चितता का सामना करना पडता था.

अब एनटीपीसी ने व्यापारिक नीति अंतर्गत वेंडर आधार विस्तार और बिजली प्रकल्प के साहित्य खरीदी प्रक्रिया अखिल भारतीय स्टार एक ही करने की योजना बनाई है. बिजली उत्पादन और प्रकल्प से संबंधीत सभी पुरवठादार और ठेकेदार को एनटीपीसी संधि उपलब्ध करके दे रहे है. इसके लिए सभी ठेकेदार और सामग्री आपूर्ति करने वाले को एनटीपीसी के www.vendor.ntpc.co.in साईट पर जाकर सूचीबद्ध सूची में पंजीकरण करना है.पंजीकरण की आखरी तारीख 31 मई है. एनटीपीसी इसके बाद सभी ठेके सूचीबद्ध ठेकेदार और सामग्री आपूर्ति करने वाले को ही देगा. जो ठेकेदार और आपूर्ति करने वाले सुची में नही है वो टेंडर के लिए पात्र नही रहेंगे. पंजीकरण करने के बाद एजेंसी और आपूर्ति करनेवाले को प्रमाणपत्र प्राप्त होगा और 3 वर्ष तक वैध रहेगा.

इस अखिल भारतीय ठेकेदार-टेंडर पंजीकरण प्रक्रिया में एनटीपीसी के बिजली प्रकल्प में सभी टेंडर में अधिक संख्या में वेंडर और ठेकेदार सहभागी रह सकते है. स्थानीय आपूर्ति करने वाले और ठेकेदार को भी इसका लाभ अधिक प्रमाण में रहेंगे. भारत की कोई भी एजेंसी इस प्रक्रिया का लाभ ले सकते है. जिससे प्रतिस्पर्धा बढ़ेगी और कंपनी के खरीदी मुल्य में कमी आएगी और निष्पक्ष तथा पारदर्शी प्रक्रिया बढेगी. स्थानीय वेंडर और ठेकेदार ने एनटीपीसी के सूचीयन प्रक्रिया में भाग ले और एनटीपीसी के व्यापारिक मौका और भागीदारी का लाभ ले ऐसा आवाहन समूह महाप्रबंधक व्ही. थंगापांडियन ने किया है.