Published On : Wed, Nov 19th, 2014

चंद्रपुर : अब शीघ्र सुलझेगी किसानों की बिजली समस्या!


समीक्षा बैठक में केन्द्रीय राज्यमंत्री अहिर ने दिए अधिकारियों को अनेक निर्देश

ahir meeting
चंद्रपुर। जिले में कम बारिश से खरीफ फसल कपास, सोयाबीन व धान को भारी नुकसान हुआ है. सिंचाई सुविधा के अभाव होने से जिले में किसानों को विविध योजनाओं के माध्यम से स्वयं के खर्च से कुएं, बोरवेल जैसे सिंचाई सुविधा दिया गया है, परंतु विद्युत विभाग के द्वारा बहुत बड़े पैमाने पर किसानों के कृषि पम्पों को बिजली से नहीं जोडऩे से किसानबंधु घोर संकट में आ जाने से जिले में कृषि पंपों को बिजली से तुरंत जोडऩे का कार्य पूर्ण करे. यह निर्देश केन्द्रीय खाद व रसायन राज्यमंत्री हंसराज अहीर ने विद्युत वितरण कंपनी के अधिकारियों को दिया.

स्थानीय सरकारी विश्रामगृह में सोमवार को जिला स्तरीय विद्युतीकरण समन्वय समिति के समीक्षा बैठक में वे मार्गदर्शन कर रहे थे. उन्होंने कृषि पम्प अनुशेष योजना सर्वसाधारण ओटीएसपी / टीएसपी व एसीपी योजना, राजीव गांधी ग्रामीण विद्युतीकरण योजना, इंफ्रास्ट्रक्चर प्लान योजना 1 व 2, पुनर्निर्मित गतमिान ऊर्जा विकास व सुधार योजना, पंचशताब्दी काम के लिए 66 केवी एलिमिनेशन योजना व प्रगति की समीक्षा की.

उन्होंने सिंगल फेज योजना में कृषि पम्पों के माध्यम से खेतों को सिंचाई करने में आ रही बड़ी संख्या में किसानों की शिकायतों के मद्देनजर सिंगल फेज बंद कर थ्री फेज की व्यवस्था करने के लिए नियोजन करने के निर्देश दिए. ताडाली सब-स्टेशन के कार्य जल्द पूर्ण करने की जानकारी  अधिकारी व कर्मचारियों के रिक्त पदों के कारण सरकारी काम पर विपरीत परिणाम होने से नागरिकों के काम समय-सीमा के भीतर नहीं होने से तत्काल रिक्त पद भरने के लिए वरिष्ठों को प्रस्ताव भेजने के भी उन्होंने निर्देश दिए. चंद्रपुर, जिवती, राजुरा, कोरपना, मूल, वरोरा आदि तालुका में बिजली की ज्वलंत समस्या होने से समस्या को दूर करने के उपाय योजना करना चाहिए. सब-स्टेशन के प्रस्तावित कार्य तीव्र गति से पूर्ण करें. जो सब-स्टेशन की मंजूरी दी गई है उनका काम शीघ्र पूर्ण करें. उसी तरह घरेलू बिजली, बिजली के खम्बे व लाइटें के संबंध में समीक्षा कर प्रश्नों का हल निकालें. उपरोक्त सभी बातों का गंभीरतापूर्वक ध्यान देने कार्यवाही करने के आदेश उन्होंने उपस्थित अधिकारियों को दिए.

अवसर पर सर्वश्री विधायक शोभाताई फडणवीस, नाना श्यामकुले, संजय धोटे, विजय राऊत, खुशाल बोंडे, ओम मांडवकर, ब्रिजभूषण पाझारे, हरीष गजबे, अधीक्षक अभयिंता नागदेवे, उपमुख्य अभियंता महानिर्मिति सी.के. सवाईतुल, कार्यकारी अभियंता किशोर मेश्राम, विजय मेश्राम, सुनील बडवे, प्रशांत सराफ, अर्चना घोडेस्वार, उप कार्यकारी अधिकारी विनोदकुमार भोयर, हरदिास ठाकरे, विनोद देशपांडे, महेश तेलंग, सहायक महाव्यवस्थापक प्रकाश प्रभावत, राजेश भुते आदि अधिकारी, कर्मचारी समीक्षा बैठक में उपस्थित थे.