Published On : Thu, Jun 11th, 2020

नाईक तलाव प्रकरण – पुलिस जांच में नहीं पाई गई ‘मटन पार्टी’ : पीआई किशोर नगराले

नागपुर: एक और जहां नाईक तलाव क्षेत्र कोरोनावायरस का नया हॉटस्पॉट बन गया है, वहीं पिछले 2 दिनों से इस क्षेत्र से भारी संख्या में मरीज पॉजिटिव निकल रहे हैं। बुधवार को उस वक्त सनसनी फैल गई जब 85 पॉजिटिव मरीजों में में से 63 मरीज नाईक तलाव क्षेत्र के पाए गए। अब इस स्थिति को लेकर मनपा आयुक्त तुकाराम मुंढे नाईक तलाव में हुई एक मटन पार्टी को दोषी ठहरा रहे हैं वहीं पांचपावली पुलिस स्टेशन के पी आई किशोर नगराले का कहना है कि पुलिस की जांच में पाया गया कि ऐसी कोई पार्टी हुई ही नहीं थी।

नाईक तलाव क्षेत्र में कोरोनावायरस की बढ़ती संख्या को लेकर हाल ही में मनपा आयुक्त ने कहा था कि नाईक तलाव क्षेत्र में हुई एक मटन पार्टी के चलते मरीजों की संख्या में विस्फोट हुआ है जिसमें कई लोग शामिल हुए थे और वहीं से ही नाईक तलाव क्षेत्र में कोरोनावायरस का संक्रमण बढ़ता चला गया। हालांकि इस पूरे मामले पर पुलिस का मत कुछ और ही है।

नागपुर टुडे से बात करते हुए पांचपावली पुलिस स्टेशन के पी आई किशोर नागराले ने कहा कि लॉकडाउन के समय पर जहां कई लोगों का काम छूट गया है, वहीं लोगों के सामने खाने के लाले पड़े हैं, ऐसे में मटन पार्टी कहां से करेंगेइस मामले को लेकर पुलिस ने गहराई से तफ्तीश भी की लेकिन जांच में किसी तरह की मटन पार्टी होने की कोई जानकारी सामने नहीं आई। उन्होंने कहा कि पुलिस और स्थानीय प्रशासन मिलकर अपनी ओर से कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं। 


उन्होंने कहा कि नाईक तलाव में जो एक ही दिन का आंकड़ा पेश किया गया है वह असल में 2 दिनों में पॉजिटिव पाए गए मरीजों की संख्या का समावेश है। सूत्रों के हवाले से जिला सूचना अधिकारी की ओर से भी कहा गया है कि यह आंकड़े पिछले 2 दिनों की संख्या का कुल योग हैं।

उधर इस खबर को लेकर नाईक तलाव के स्थानीय नागरिकों में भी रोष व्याप्त हैं। उन्होंने कहा कि मनपा आयुक्त तुकाराम मुंढे उनके क्षेत्र के बारे में भ्रामक जानकारी देकर उस क्षेत्र को बदनाम करने का प्रयास कर रहे हैं। स्थानीय नागरिकों ने फैसला किया है कि वे जल्द ही इस मामले की शिकायत जिला प्रशासन से करेंगे।

गौरतलब है कि मोमिनपुरा और सतरंजीपुरा के बाद अब नाईक तलाव कोरोनावायरस संक्रमण के मामले में शहर का हॉटस्पॉट बन गया है और ऐसे में लगातार बढ़ते मामलों ने मनपा प्रशासन की नींद उड़ा रखी है। अब इस मामले को लेकर मनपा और पुलिस विभाग में भी ठन गई है क्योंकि आए दिन मनपा आयुक्त पुलिस पर नए-नए आरोप लगा रहे हैं जबकि पुलिस प्रशासन का स्पष्ट कहना है कि वे अपने स्तर पर लॉकडाउन का पालन करवाने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं।

अब देखना यह होगा कि नाईक तलाव में आने वाले दिनों में क्या स्थिति बनती है, और स्थानीय नागरिक क्या रुख अपनाते हैं।

रविकांत कांबले