Oops! It appears that you have disabled your Javascript. In order for you to see this page as it is meant to appear, we ask that you please re-enable your Javascript!
    | | Contact: 8407908145 |
    Published On : Sat, Mar 17th, 2018
    nagpurhindinews | By Nagpur Today Nagpur News

    कॉटन मार्केट में 17 एकड़ में एनएमआरसीएल द्वारा बनाया जाएगा मल्टी मॉडल हब

    नागपुर: शहर में शुरू मेट्रो रेल प्रोजेक्ट के साथ कई विभिन्न इलाकों में बड़े पैमाने पर इंफ्रास्टक्चर को विकसित किया जा रहा है। एनएमआरसीएल( नागपुर मेट्रो रेल कार्पोरेशन लिमिटेड ) की नजर कई ऐसी जगहों पर है जहाँ विकास की संभावना है। ऐसे ही एक जगह है कॉटन मार्केट, यह इलाका वेजिटेबल (सब्जी भाजी ) के व्यापार का प्रमुख केंद्र है। साथ ही नागपुर रेलवे स्टेशन का पूर्वी द्वारा भी इसी स्थान पर है। स्टेशन के पूर्वी भाग के साथ कॉटन मार्केट चौक पर मेट्रो स्टेशन बनने जा रहा है। मेट्रो की सोच है इस पुरे इलाक़े को बड़े व्यावसयिक केंद्र की तरह विकसित किया जाए। इसी सोच को गति देते हुए मेट्रो की तरफ से 17 एकड़ ईलाके में मल्टी मॉडल हब बनाने का प्लान बनाया है। मेट्रो कॉर्पोरेशन अपने इस प्लान पर काम शुरू भी कर चुका है और इस प्रस्ताव पर रेलवे और राज्य सरकार से बातचीत का दौर भी जारी है।

    महामेट्रो प्रमुख बृजेश दीक्षित के मुताबिक अगर मेट्रो के इन प्लान को साकार करने की मंजूरी मिल जाती है तो मध्य नागपुर में एक शानदार व्यावसायिक केंद्र स्थापित हो सकता है। 17 एकड़ में बनने वाले इस प्रोजेक्ट में इसी जगह पर अपना व्यापार कर रहे लोगो को आरएनआर के तहत मल्टी मॉडल हब में जगह उपलब्ध कराई जाएगी। खापरी से न्यू एयरपोर्ट स्टेशन के बीच मेट्रो रेल की रफ़्तार को लेकर उठे विवाद के बाद शनिवार को एनएमआरसीएल द्वारा शनिवार को प्रोजेक्ट के शुरू कामो का अवलोकन कराया गया। जिसके बाद मेट्रो हॉउस में दीक्षित ने पत्रकारों से संवाद साधा।

    दुर्घटना पर ज़ीरो टॉलरेंस
    शहर भर में शुरू परियोजना के काम में छुटपुट दुर्घटनाओं पर बृजेश दीक्षित ने कहाँ की काम में गलती की किसी भी तरह की कोताही नहीं बरती जाएगी। शुरू काम मेट्रो निजी कंपनियों की मदत से कर रही है। ऐसे में किसी भी तरह की दुर्घटना होती है तो ठीकरा मेट्रो पर फूटता है। लेकिन सेफ़्टी को लेकर किसी भी तरह की गुंजाइश की संभावना नहीं है। जब से काम शुरू हुआ है तब से लेकर अब तक सेफ़्टी नियमों के उल्लंघन के चलते कंस्ट्रक्शन कंपनियों को 40 लाख का जुर्माना लगाया गया है।


    क्रेजी केसल की जगह मेट्रो को मिलेगी
    दीक्षित के मुताबिक क्रेजी केसल की जमीन हर हालत में मेट्रो को मिलेगी। हमने इस जगह को विकसित करने के लिए प्लान बनाया है। जिसमे नुकसान भरपाई के लिए अन्य तरीक़े को अपनाया जा सकता है। बहरहाल इस मसले को लेकर खड़े हुए विवाद को सुलझाने के लिए विभागीय आयुक्त कमिटी का गठन हुआ है। अंततः फैसला इसी कमिटी को करना है। फिर भी उन्हें विश्वाश है विवाद की वजह से मेट्रो के काम पर कोई असर नहीं पड़ेगा।

    अप्रैल अंत तक परियोजना के दूसरे चरण का डीपीआर
    मेट्रो द्वारा परियोजना के दूसरे चरण के लिए डीपीआर बनाने का काम जारी है जिसके अप्रैल अंत तक पूरा हो जाने की उम्मीद है। मेट्रो को इस रूट पर ढाई से तीन लाख प्रतिदिन राइडरशिप मिलने की संभावना है। दीक्षित के मुताबिक केंद्रीय मंत्री नितिन गड़करी की सूचना के बाद मेट्रो को रामटेक तक ले जाने की दिशा में रिसर्च का काम जारी है। यह रैपिड मेट्रो होगी अगर सब है तो मेट्रो रामटेक तक दौड़ेगी। ट्रैक रेलवे का होगा,ट्रेन और संचालन मेट्रो द्वारा किया जायेगा।

    एक वर्ष में रामझूला फेज 2 बनकर तैयार
    रामझूला फेज टू का काम एक वर्ष में ख़त्म कर लेने का कारनामा नागपुर मेट्रो ने कर दिखाया है। शहरवासी रामझूला फेज 1 के निर्माणकार के दौरान हुए घटनाक्रम से भलीभांति परिचित है। ऐसे में साल भर के भीतर ब्रिज का काम हो जाना सराहनीय काम है। नागपुर मेट्रो के प्रोजेक्ट डॉयरेक्टर महेश कुमार ने बताया की शुक्रवार को ब्रिज का आखिरी स्लैब डाला गया और जल्द ही सड़क निर्माण का कार्य शुरू हो जाएगा।


    टीटीएमसी के काम का टेंडर रविवार को होगा जारी
    दीक्षित ने बताया मुंजे चौक पर बनाए जा रहे मेट्रो स्टेशन जिसे टीटीएमसी कहा जाएगा उसकी डिजाइन तय कर ली गई है। रविवार को इसकी निविदा जारी की जाएगी। इस स्थान पर 3 टावर बनाए जायेगे जिसमें 18 से 20 मंजिल तक की इमारतों का निर्माण किया जाएगा। यह काम 300 करोड़ का होगा।

    अप्रैल अंत तक शुरू जायेगी जॉय राइड
    नागपुर मेट्रो के ऐडग्रेड सेक्शन के अंतर्गत आने वाले तीनो स्टेशनों का कार्य लगभग पूरा हो चूका है। दीक्षित ने बताया की खापरी स्टेशन का काम 90%,एयरपोर्ट साऊथ का काम 85 फीसदी और न्यू एयरपोर्ट स्टेशन का काम 60 % पूरा हो चुका है। नागपुरवासी जल्द से जल्द जॉय राइड का आनंद ले सके इसके लिए कोशिश जारी है। अप्रैल अंत तक सीआरएमएस का एक बार फिर सर्वे होगा जिसके बाद राइड शुरू होने का भरोषा उन्होंने दिलाया।




    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145