Published On : Fri, Nov 30th, 2018

मनपा स्कुल के विद्यार्थी समझा रहे है साइंस का महत्व

‘अपूर्व विज्ञान मेला ‘ का आयोजन शुरू

नागपुर: ‘साइंस से डरे नहीं उसे समझे और उसे अपनाएं तो साइंस मजेदार हो सकता है’. ‘अबाउट ह्यूमन स्केलेटन ‘ माइक्रोस्कोप’ ‘ पानी की सतह भी टूटती है ‘ ‘सेंटर ऑफ़ ग्रेविटी’ इन प्रयोगों को नागपुर महानगर पालिका के विद्यार्थी दूसरे लोगों को और अन्य स्कुल के लोगों को समझा रहे है. राष्ट्रभाषा भवन में 28 नवंबर से लेकर 2 दिसंबर तक ”अपूर्व विज्ञान मेला ‘ का आयोजन किया जा रहा है.

जहां विभिन्न विषयों पर ‘साइंटिफिक प्रयोग ‘ विद्यार्थियों द्वारा समझाए जा रहे है. असोसिएशन फॉर रिसर्च एंड ट्रेनिंग इन बेसिक साइंस एजुकेशन और मनपा की ओर से यह आयोजन किया जा रहा है. इस एक्सहिबिशन में 200 मनपा की स्कूलों के विद्यार्थियों को ट्रेनिंग दी गई है. पिछले तीन दिनों में 90 स्कूलों के करीब 5 हजार विद्यार्थियों ने अपूर्व विज्ञान मेले में पहुंचकर विज्ञान के प्रयोग को जाना और समझा है.

दुर्गानगर हाईस्कूल के 9वी क्लास में पढ़नेवाली प्रगति यहाँ आनेवाले विद्यार्थियों को ‘ सेंटर ऑफ़ ग्रेविटी ‘ के बारे में बताती है कि सिर पर भार रखने से ग्रेविटी के कारण सिर पर रखा हुआ सामान गिरता नहीं है.

सुरेन्द्रगढ़ स्थित मनपा स्कुल की 9 वी क्लास में पढ़नेवाली अंजलि तिवारी ” अबाउट ह्यूमन स्केलेटन ” के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि शरीर में 206 प्रकार की हड्डिया होती है. शरीर के सभी हिस्सों की हड्डियों को क्या कहते. इसकी जानकारी उसने विद्यार्थियों को दी.

नेताजी मार्किट स्कुल की हिना दौलत यादव और प्रियल पिल्लेवान ने ” माइक्रोस्कोप ” के माध्यम से नमक के छोटे छोटे कणों को विद्यार्थियों को दिखाया और उसकी जानकारी विद्यार्थियों को दी.

छत्रपति चौक के स्वामी विवेकानंद स्कुल में पढ़ रहे मिहिर कोकर्डे और महर्षि पटेल ने ” पानी की सतह भी टूटती है ” इस विषय पर विद्यार्थियों को जानकारी दी. उन्होंने बताया कि पानी में कोइजन के कारण पानी की सतह टूटती है. उन्होंने यह प्रयोग करके भी दिखाया.

दुर्गानगर स्कुल में पढ़नेवाले जयंता अलोने ने ‘ सिंपल लिवर मशीन ‘ के बारे में समझाया कि ज्यादा वजन जिस तरफ है अगर उसकी दूसरे साइड में कम वजन भी रखा जाए तो पलड़ा कम वजन का भारी होगा.