Published On : Tue, Mar 17th, 2020

ईंधन के आभाव में मनपा की वाहनें खड़ी

भोले पेट्रोल पंप का डेढ़ करोड़ का बकाया

नागपुर – मनपा आयुक्त तुकाराम मूढ़े के नित के चलते मनपा वित्त विभाग ने सभी का भुगतान बंद कर रखा हैं,नतीजा भोले पेट्रोल पंप ने बकाया डेढ़ करोड़ की वसूली होने तक ईंधन देना बंद कर दिया। इससे मनपा की व्यवस्था चरमरा गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार मनपा की 150 वाहनें हैं, जिसमें 28 अधिकारियों के कारों का समावेश हैं। अधिकारियों के कारों में 2-3 दिन का ईंधन रहता हैं इसलिए इनके कारों को छोड़कर शेष वाहनें ईंधन के आभाव में कल सोमवार से खड़ी ही गई हैं। इन वाहनों सह मशीनों में रोजाना ईंधन भरने के बाद उसके अनुरूप काम लिया जाता हैं।

इनमें एक दिन से ज्यादा का ईंधन नहीं होता हैं।वाहनों व मशीनों में पिछले 2 दिन से ईंधन न होने के वजह से ज़ोन अंतर्गत सह अन्य रोजाना के कामकाज ठप्प हो गए हैं।

जानकारी मिली हैं कि मनपा को उधारी में ईंधन सिर्फ भोले पेट्रोल पंप ही देता हैं। जिनका जनवरी के 60 लाख,फरवरी के 54 लाख और मार्च 15 तक 27 लाख रुपये का बकाया हो जाने से पम्प संचालक ने ईंधन देना बंद कर दिया। क्योंकि अधिकारियों के वाहनों में ईंधन पर्याप्त मात्रा में हैं इसलिए प्रशासन ने कोई चिंता नहीं की।

उल्लेखनीय यह हैं कि भोले पेट्रोल पंप संचालक मनपा को ज्यादा दिनों तक उधारी नहीं देता,कुछ समय का राह देखने के बाद क्योंकि अकेला आपूर्तिकर्ता हैं इसलिए अचानक ईंधन देना बंद कर देता हैं। उक्त मसले पर जानकारी मिली हैं कि आयुक्त के बजट पेश हो जाने से मनपा वित्त विभाग जल्द ही ईंधन आपूर्तिकर्ता को 2 माह का बकाया भुगतान कर देंगी,इनके भुगतान होते ही मनपा को पुनः ईंधन मिलना शुरू हो जाएगा। फिलहाल अनिश्चित काल के लिए भोले पेट्रोल पंप समूह ने ईंधन देने पर रोक लगा रखी हैं। 1-2 दिन में जब अधिकारियों के वाहनों का ईंधन सूखने के नौबत आ जाएंगे,तब प्रशासन भोले पेट्रोल पंप की मांग को गंभीरता से ले सकता हैं ?