Published On : Mon, Apr 29th, 2019

मनपा स्कूल की जगह को लेकर भाजपा नगरसेवक-आरएसएस में भिड़ंत

– ‘मिशन शौर्य प्रशिक्षण शिविर’ पड़ी खटाई में

Representational Pic

नागपुर: रेशमबाग स्थित बंद पड़ी स्कूल की जगह को लेकर भाजपा नगरसेवक छोटू भोयर और इनके ही प्रभाग क्षेत्र के आरएसएस के स्वयंसेवकों के मध्य हुई विवाद ने दोनों को थाने तक पहुंचा दिया। दोनों ही तरफ से सक्करदरा थाने में एक-दूसरे के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई गई.

याद रहे कि रेशमबाग परिसर के जूनी शुक्रवारी हिंदी प्राथमिक स्कूल अनेक वर्षों से बंद हैं.इस जगह पर स्थानीय आरएसएस के कार्यकर्ताओं ने लोकमान्य सांस्कृतिक व क्रीड़ा मंडल की स्थापना कर स्थानीय बच्चों के लिए उपक्रम शुरू की हैं,जिसे मनपा की सहमति प्राप्त हैं.यहीं पर प्रत्येक वर्ष ‘मिशन शौर्य प्रशिक्षण शिविर’ का आयोजन किया जाता हैं.उक्त आयोजकों का मनपा से करार समाप्ति की ओर देख स्थानीय नगरसेवक भोयर ने यह मैदान/जगह अन्य संस्था को देने की पहल करने से वर्त्तमान मंडल ने विरोध दर्शाया।जबकि प्रत्येक वर्ष की तरह १ मई से आयोजित की जाने वाली ‘मिशन सौर्य प्रशिक्षण शिविर’ की तैयारी शुरू हैं.

मंडल के विरोध की जानकारी मिलते ही नगरसेवक भोयर ने मंडल के विरोध पर आपत्ति दर्शाई।मंडल के प्रतिनिधि संघ के रेशिमबाग शाखा के स्वयंसेवक हैं.उन्होंने संघ के पदाधिकारी और भाजपा के वरिष्ठ नेताओं से भोयर की शिकायत की.इससे भोयर झल्ला गए और यह जगह मंडल को दोबारा न मिले इस मामले पर अड़ गए.

भोयर के अड़ियल रवैये से मामला सक्करदरा थाने तक पहुँच गया.दोनों ओर से थाने में एक-दूसरे के खिलाफ मामला दर्ज करवाया गया. संभावना यह भी जताया जा रहा कि आगामी दिनों में यह मामला आरएसएस के लिए गले की हड्डी बन सकती हैं.

मंडल के अध्यक्ष अधिवक्ता रमन सेनाड के अनुसार वर्षो से हमारी संस्था द्वारा ‘मिशन सौर्य प्रशिक्षण शिविर’ आयोजित करती रही,इस वर्ष नगरसेवक भोयर का विरोध ही नहीं बल्कि अन्य किसी युवक संगठन को देने की कोशिश की जा रही हैं.भाजपा नेताओं के जेहन में उक्त मामला लाया गया,अपशब्द के उपयोग की वजह से थाने में मामला दर्ज करवाया गया.

नगरसेवक भोयर के अनुसार मंडल ने इस जगह अपना कार्यालय शुरू किया,जिसका सभी ४ नगरसेवकों ने इसका विरोध किया।यह जगह एक वर्ष के लिए किसे भी दी जाती हैं,मुद्दत समाप्त होने पर अन्य किसी को भी दी जा सकती है,इसके तहत विद्यार्थी युवक क्रीड़ा मंडल को दे दी गई.