Published On : Sat, Jan 18th, 2020

वाइरल पीडीएच फाइल का संघ ने किया विरोध

नागपुर. सरसंघचालक मोहन भागवत के छायाचित्र वाली ‘नया भारतीय संविधान’ नाम की १६ पेज की एक पीडीएफ फाइल वायरल होने से हड़कंप मच गया. फाइल तेजी से वायरल होने के बाद संघ ने स्पष्ट किया कि इसका कोई संबंध नहीं है.

समाज को तोड़ने वाली शक्तियों द्वारा यह कृत्य किया जा रहा है. शुक्रवार को कोतवाली पुलिस में शिकायत भी दर्ज की गई और पीडीएफ फाइल तैयार करने वाले की पहचान कर उसे गिरफ्तार करने की मांग की गई. इससे पहले भी दिल्ली और लखनऊ में पुलिस से शिकायत की गई है.

इस पीडीएफ फाइल के मुखपृष्ठ पर सरसंघचालक का छायाचित्र लगाया गया है. १६ पेज की पीडीएफ फाइल हिन्दी भाषा में है. इस संबंध में विदर्भ प्रांत संघचालक रामजी हरकरे, महानगर सहसंघचालक श्रीधरराव गाडगे, महानगर संघचालक सी.ए. राजेश लोया ने पत्र-परिषद लेकर संघ का पक्ष रखा.

उन्होंने बताया कि भागवत के नाम का दुरुपयोग कर दुष्प्रचार किया जा रहा है. संघ ने आजतक भारतीय समाज को जोड़ने का काम किया है. जिन्हें काम पसंद नहीं आ रहा है, वे सोशल मीडिया के माध्यम से इस तरह की हरकतों को अंजाम दे रहे हैं.