Published On : Mon, Jan 14th, 2019

जानलेवा ‘ नायलॉन ‘ मांजा : बिक्री पर लगे रोक और विक्रेताओं पर कार्रवाई की मांग

आम आदमी पार्टी के युवा आघाडी ने दिया उपजिलाधिकारी को निवेदन

नागपुर: नागपुर शहर में पशु पक्षियों के साथ ही लोगों के लिए भी जानलेवा साबित हो रहे नायलॉन मांजे पर पाबंदी लगाने की मांग आम आदमी पार्टी की युवा आघाड़ी की ओर से की गई. इस संबंध में उपजिलाधिकारी रवींद्र खजाजी को निवेदन पत्र भी सौंपा गया. पशु पक्षियों और मानवी जीवन के लिए घातक होने के कारण राष्ट्रीय हरित न्यायधिकारण (एनजीटी ) ने कांच के पाउडर का लेप लगाए हुए नायलॉन, गट्टू, तुंगुस जैसे कृत्रिम धागे से बनाएं गए मांजे के उत्पादन, भंडारण, बिक्री और खरीदी पर पाबंदी लगाई है.

इसके बावजूद नायलॉन, गट्टू और तंगुस मांजे को ‘चायनीज़ ‘ मांजे के नाम से शहर में खुलेआम बेचा रहा है. इस मांजे के कारण अब नागरिकों की जान पर बन गई है. पक्षियों के साथ ही दोपहिया वाहनचालक भी गाड़ी से गिरकर जख्मी हो रहे हैं. नागपुर में ही इस मांजे के कारण गला कट जाने की वजह से दो लोगों की जान जा चुकी है. इस मांजे पर पाबंदी के बावजूद भी पुलिस, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, महानगर पालिका इसमें से कोई भी भी कार्रवाई नहीं कर रहा है. इस पाबंदी का अमल केवल कागज़ पर ही हो रहा है.

मंगलवार को मकरसक्रांति त्यौहार है. इस समय बड़े प्रमाण में शहर में पतंग उड़ाने के लिए नायलॉन मांजे का उपयोग किया जाता है. इस बात को ध्यान में रखते हुए नायलॉन मांजे की पाबंदी पर सख्ती से काम किए जाने की मांग आम आदमी पार्टी की ओर से की गई. निवेदन में की गई मांगों में नायलॉन मांजे के विक्रेताओं पर मुख्यत होलसेल दुकानों पर छापा डाला जालने और नायलॉन मांजे को जब्त कर सख्त कार्रवाई के साथ ही नायलॉन मांजे का उपयोग नहीं करने के लिए युवकों और नागरिकों में जनजागृति की मुहीम छेड़ने जैसी मांगें शामिल हैं.

इस दौरान पार्टी के युवा आघाडी विदर्भ के संयोजक पीयूष आकरे, नागपुर जिला सह – संयोजक धीरज आगाशे, जिला सचिव सचिन सोमकुवर, प्राणी मित्र स्वप्नील बोधाने, आप छात्र संगठन शहर प्रमुख नेहाल बारेवार, हेमंत चंदनगिर, श्रेयस जयस्वाल, गौरव काले, अनुप खडतकर, आशुतोष मेश्राम आदी ने उप जिलाधिकारी को निवेदन दिया. इस पर उप जिलाधिकारी ने इस निवेदन पर तुरंत कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है.