Published On : Sun, Aug 4th, 2019

मारे गए नक्सली 32 लाख के इनामी, भारी मात्रा में हथियार मिले

गोंदिया जिले के दर्रेकसा दलम के एरिया कमांडर सहित 5 महिला नक्सलियों का खात्मा

गोंदिया। महाराष्ट्र तथा छत्तीसगढ़ के सीमावर्ती इलाके के थाना बाघ नदी के बोरतलाव क्षेत्र के शेरपार एंव सीतागोटा के बीच स्थित ऊंची काली पहाड़ी पर नक्सलियों के उपस्थिति की सूचना पुलिस महानिरीक्षक (दुर्ग) हिमांशु गुप्ता इन्हें खबरी से मिली जिसके बाद राजनंदगांव जिले के पुलिस उप महानिरीक्षक रतनलाल डांगी के मार्गदर्शन में पुलिस धीक्षक बी.एस. धु्रव द्वारा नक्सल सर्च अभियान की रूपरेखा तैयार की गई।
जिला पुलिस बल, जीआरजी एंव सीएएफ की संयुक्त कार्रवाई शुरू हुई। शनिवार सुबह 8 बजे पहाड़ी क्षेत्र में नक्सलियों के 3 टेंट (तंबू) लगे दिखाई दिए। पुलिस पार्टी को अपनी ओर आगे बढ़ता देख माओवादियों ने फायर खोल दिया तथा ऑटोमेटिक हथियारों से पुलिस पर जबरदस्त गोलीबारी शुरू की जिसके जवाब में पुलिस दल ने आत्मसुरक्षा के साथ बुलेट का जवाब बुलेट से दिया।

दोनों ओर से लगभग 1 घंटे तक चली भीषण मुठभेड़ में गोंदिया जिले के सालेकसा थाना अंतर्गत आने वाले दर्रेकसा क्षेत्र में सक्रिय दर्रेकसा दलम के 7 नक्सली मारे गए जिनमें दलम एरिया कमांडर सुखदेव उर्फ लक्ष्मण व दर्रेकसा एरिया कमेटी सदस्य रितेश सहित 5 महिला नक्सलवादी- सीमा, ललिता, शिल्पा, मीना, प्रमिला का समावेश है, जबकि पुलिस बल को भारी पड़ता देख घटनास्थल पर मौजुद कुछ अन्य नक्सली गोंदिया जिले के जंगल सीमा की ओर भागने में कामयाब रहे।


फायरिंग थमने के बाद पुलिस टीम ने घटनास्थल पर सर्च अभियान चलाया, अलग-अलग जगहों पर 7 शव मिले तथा उसके पास एके- 47 एक मशीन गन, 1 नग 303 राइफल, 315 बोर की 2 बंदूक, एक नग 12 बोर की बंदूक, एक नग सिंगल शॉट बंदूक सहित एक कार्बाइन, एके-47 के 31 नग कारतूस, 1 नग कुकर आईडी, 7 नग पिठ्ठु, एक नग मोटोरोला वायरलेस सेट तथा भारी मात्रा में नक्सल साहित्य, मेडिकल सामान और खाने-पीने की वस्तुएं बरामद हुई।
घटनास्थल से बरामद शवों की शिनाख्त दो आत्मसमर्पित नक्सलियों द्वारा की गई जिससे यह खुलासा हुआ कि, मारे गए नक्सली गोंदिया जिले के दर्रेकसा दलम के थे, जिनपर 8 लाख, 5 लाख तथा 2 लाख इस तरह कुल मारे गए 7 नक्सलियों पर 32 लाख का इनाम घोषित था।

विशेष उल्लेखनीय है कि, महाराष्ट्र के अंतिम छोर पर बसा नक्सल प्रभावित गोंदिया जिला यह छत्तीसगढ़ के राजनांदगांव जिले की सीमा से सटा हुआ है। ऊंची पहाड़ियों से घिरा यह जंगल क्षेत्र 5 किमी के दायरे में आता है।

गोंदिया जिले में मौजुदा वक्त में 6 नक्सली दलम सक्रिय है जिनमें देवरी दलम, तांडा दलम, कोरची दलम, जोब दलम, प्लाटून दलम, कुरखेड़ा दलम का समावेश है।

नक्सल सप्ताह के दौरान पुलिस के इस कोम्बिंग ऑपरेशन में अब दर्रेकसा दलम के कमांडर तथा उसके 6 साथियों का खात्मा हो चुका है जिससे यह कहा जा रहा है कि, दर्रेकसा दलम की अब, इस कार्यवाही से कमर टूट चुकी है।

गौरतलब है कि, राजनंदगांव पुलिस इसे अपनी एक बड़ी सफलता के तौर पर देख रही है।

…रवि आर्य