Published On : Mon, Sep 11th, 2017

नगर में जोर शोर से शुरू हुई नवरात्र की तैयारियां

Navratri

File Pic

नागपुर: नगर के देवी मंदिरों में अश्विन नवरात्र उत्सव की तैयारियां जारी हैं. इस बार अश्विन नवरात्र महोत्सव 21 से 29 सितंबर तक मनाया जाएगा. देवी मंदिरों का रंगरोगन तथा परिसरों में भक्तों के दर्शन के लिए पंडाल, वाहनों की पार्किंग, पूजा सामग्री की दूकानों की व्यवस्था आदि कार्य जारी है. गुरुवार 21 सितंबर से नवरात्र प्रारंभ होगा. 29 सितंबर को नवमी पर समापन होगा. इस दौरान अखंड ज्योत, सप्तशती पाठ, हवन, कन्या पूजन व भोजन आदि कार्यक्रम होंगे. शनिवार 30 सितंबर को विजयादशमी मनाई जाएगी.शहर में कांग्रेस शहराध्यक्ष विकास ठाकरे द्वारा पिछले २६ वर्षों से अभ्यंकर नगर में, प्रकाश तोतवानी द्वारा खामला में, कमाल चौक समीप पूर्व नगरसेवक संजय जैस्वाल एवं कोल एम्प्लॉइज सार्वजनिक दुर्गोत्सव समिति द्वारा जरीपटका स्थित सीएमपीडीआई परिसर में वर्षों से बड़े धूमधाम से नवरात्र-विजयादशमी का पर्व मनाया जाता है.

कोराडी मंदिर- महालक्ष्मी जगदंबा मंदिर, कोराडी में अश्विन नवरात्र महोत्सव की तैयारियां प्रारंभ हो गई हैं. नवरात्र महोत्सव में नवनिर्मित भव्य गर्भगृह आकर्षण का केन्द्र रहेगा. गर्भगृह के निर्माण में करीब 300 किलो चांदी और 10 किलो सोने का प्रयोग हो रहा है. इसमें करीब 10 करोड़ खर्च होंगे. महोत्सव की शुरुआत गुरुवार 21 सितंबर को सुबह 4 से 10 बजे तक स्वयंभू दर्शन, सुबह 10 से दोपहर 12 बजे तक घटस्थापना व शाम 5 बजे आजीवन अखंड ज्योति प्रज्वलन होगा. नवरात्र महोत्सव के दौरान प्रतिदिन सुबह 4 बजे शृंगार आरती, दोपहर 12 बजे भोग आरती व रात 8 बजे संध्या आरती होगी. गुरुवार 28 सितंबर अष्टमी को शृंगार आरती प्रात: 3.30 बजे, भोग आरती दोपहर 12 बजे, महापूजा व महाआरती रात्रि 8 बजे, हवन रात्रि 11 बजे प्रारंभ होगा. 29 सितंबर नवमी के दिन प्रात: 3 बजे शृंगार आरती और पूर्णाहुति भोग आरती, कुमारी पूजन व भोजन दोपहर 12 बजे, संध्या आरती 8 बजे होगी. 30 सितंबर विजयादशमी के दिन शृंगार आरती सुबह 3.30 बजे, भोग आरती दोपहर 12 बजे, आजीवन अखंड ज्योत विसर्जन 3 बजे व संध्या आरती रात 8 बजे होगी. महोत्सव विजयादशमी 30 सितंबर तक शुरू रहेगा. 24 से सांस्कृतिक व पर्यटन महोत्सव पर्यटन विकास महामंडल, राज्य सरकार व जिला प्रशासन के तत्वावधान में कोराडी सांस्कृतिक व पर्यटन महोत्सव का आयोजन 24 से 27 सितंबर तक कोराडी मंदिर परिसर में आयोजित किया गया है. महोत्सव में ‘करूया कोराडीची वारी, घालुया गोंधल आई जगदंबेच्या दारी’ थिम पर विविध कार्यक्रमों का व महाआरती का आयोजन होगा. साथ ही पिछले वर्ष की भांति प्रतिदिन शाम 6 बजे महाआरती होगी. सांस्कृतिक व पर्यटन महोत्सव के लिए भव्य मंडप तैयार किया गया है.

आग्याराम देवी- आग्याराम देवी मंदिर ट्रस्ट की ओर से आग्याराम देवी मंदिर, गणेशपेठ में अश्विन नवरात्र की शुरुआत 21 सितंबर से हो रही है. नवरात्र 30 सितंबर तक रहेगा. इसके उपलक्ष्य में मंदिर ट्रस्ट द्वारा नवरात्रोत्सव की तैयारियां शुरू हो गई है. ट्रस्ट अध्यक्ष विधायक गिरीश व्यास ने पत्रपरिषद में बताया कि मंदिर के प्रांगण में अखंड ज्योत के लिए भव्य पंडाल तैयार कर वहां पर अखंड ज्योत की व्यवस्था की जाने वाली है. इस बार भी करीब 2,500 अखंड ज्योत रहेंगी. मंडप, ज्योत भवन कार्य सचिव रामचन्द्र पिल्लारे व पूर्व अध्यक्ष हरिओम अग्रवाल देख रहे हैं. प्रसिद्धि एवं समन्वय की ओर उपाध्यक्ष गिरजाशंकर अग्रवाल ध्यान दे रहे हैं.

पारडी- भंडारा रोड पर पारडी परिसर में यादवकालीन भवानी माता मंदिर में भवानी माता सेवा समिति द्वारा नवरात्र महोत्सव गुरुवार 21 सितंबर से शनिवार 30 सितंबर तक मनाया जाएगा. गुरुवार 21 सितंबर को सुबह 4 से 5 बजे तक माता का अभिषेक, 5 से 6 तक माता का शृंगार, 6.15 बजे मुख्य यजमान की उपस्थिति में घटस्थापना की जाएगी. इस वर्ष करीब 3,251 भक्तों हेतु मनोकामना अखंड ज्योत की व्यवस्था की जाएगी. मनोकामना अखंड ज्योत का सामूहिक प्रज्वलन दोपहर 2 बजे मुख्य यजमान की उपस्थिति में होगा. गुरुवार 28 सितंबर को दोपहर 2 बजे अष्टमी होम यज्ञ एवं शुक्रवार 29 सितंबर नवमी को दोपहर 12.30 बजे से महाप्रसाद का वितरण होगा. महाप्रसाद का लाभ करीब सवा लाख भक्तों द्वारा लेने का अनुमान है. इसके अलावा प्रतिदिन हलवा प्रसाद वितरण के साथ दर्शनार्थियों हेतु प्रसादी की व्यवस्था दोपहर 12.30 से रात्रि 10 बजे तक रहेगी. शनिवार 30 सितंबर को दोपहर 12.30 बजे आरती के पश्चात मुख्य यजमान की उपस्थिति में भव्य शोभायात्रा मंदिर से पारडी परिसर का भ्रमण कर वापस मंदिर प्रांगण आएगी. पश्चात मंदिर प्रांगण में घट विसर्जन किया जायेगा. नवरात्रि में रोजाना प्रात:काल 5 बजे, दोपहर 12 बजे तथा शाम 6.30 बजे आरती होगी. इस दौरान विविध धार्मिक और सांस्कृतिक कार्यक्रम भी होंगे.

लक्ष्मी नगर- रानी लक्ष्मीबाई दुर्गा उत्सव मंडल की ओर से लक्ष्मीनगर स्थित वालीबाल मैदान पर अपने ११वें वर्ष के दुर्गोत्सव में इस बार मेट्रो की प्रतिकृति साकार की जाएगी. 21 सितंबर से प्रारंभ होने वाले नवरात्रोत्सव में ​कोलकाता के 40 कलाकारों द्वारा गंगा नदी के तट से लाई मिट्टी से 24 बाय 20 फीट की दुर्गादेवी की सुंदर मूर्ति का निर्माण जारी है. ‘नागपुर मेट्रो’ की आटोमैटिक व एयरकंडिशन्ड प्रतिकृति भी यहां बनाई जा रही है. इसमें बैठने पर मेट्रो में सफर करने की अनुभूति होगी. इसके अलावा थ्री डी प्रवेश द्वार, 100 फीट ऊंचा आयफेल टावर, पश्चिम बंगाल के चंदननगर के कारीगरों द्वारा थ्री डी रोशनाई, देश के लिए फांसी पर चढ़े भगत सिंह, राजगुरु व सुखदेव के दुर्लभ चित्र व जीवनी पर प्रदर्शनी प्रमुख आकर्षण रहेगा.