Published On : Tue, Mar 20th, 2018

सॅण्ड स्टोन का नेचूरल कलर और कला निखार रही मेट्रो स्टेशनो को


नागपूर: महानगर में निर्माणाधीन मेट्रो रेल्वे स्टेशन को अलग अलग शैली में बनाने का कार्य किया जा रहा है. वर्धा मार्ग स्थित मेट्रो रेल लाईनपर जमिनी स्तर के तीनो स्टेशन का कार्य लगभग पूर्णता कि और अग्रसर है. खापरी मेट्रो स्टेशन कि डिझाईन विक्टोरिया कालीन शैली पर बनाइ गयी है. जबकी न्यू-एअरपोर्ट स्टेशन बुद्धिस्ट आर्किटेक्ट पर आधारित है. एयरपोर्ट(साऊथ) के डिझाईन अत्याधुनिक है. तिनोही स्टेशनो कि डिसाईन बेहद खूबसूरत होणे से यह इमारते लोगो के आकर्षण का केंद्र बनी हुई है.

राजस्थान के खदानो से निकलने वाले सँड-स्टोन की कलाकारी स्टेशन की सुंदरता में चार चांद लगा रही है. विश्वप्रसिद्ध कुतुब मिनार और इंडिया गेट का निर्माण भी सँड-स्टोन के माध्यम से किया गया है, जो कि मजबुती और अल्प रखरखाव के लिए प्रसिद्ध है. न्यू-एअरपोर्ट की इमारत में क्रीम रंग का सँड-स्टोन लगाया गया है.


राजस्थान के धोलपूर से सँड-स्टोन सडक परिवहन द्वारा नागपूर लाया गया. यह कार्य भी अत्यन्त जटील था. २ दिन के सफर की बजाए ४ दिन में सफर पुरा कर माल सुरक्षित नागपूर पहूचा. मेट्रो के मुख्य प्रकल्प प्रबंधक एच.पी. त्रिपाठी के अनुसार सँड-स्टोन का रंग नैसर्गिक होने से इसपर मौसम का कोई असर नही होता. जबकी अन्य स्टोन मानवनिर्मित होते है. भविष्य में सँड-स्टोन से निर्मित मेट्रो स्टेशनो की इमारतो के रखरखाव पर खर्च अल्प ही रहेगा.

इस परंपरागत कार्य को करने के लिए टीम जुटी हुई है. कारागीर मुकेश कुमरे के अनुसार काफी बारीकी से सँड-स्टोन का कार्य सावधानी पूर्वक किया जाता है. कारागीर महेंद्र सिंग के अनुसार इस कार्य में उनकी दुसरी पिढी कार्य कर रही है. परंपरागत कला और सँड-स्टोन की सुंदरता मेट्रो स्टेशनो कि छटा में चार चांद लगा रही है.