Published On : Sat, Jul 22nd, 2017

नागपुर विश्वविद्यालय में 50-50 का फार्मूला अपनाने पर विचार का दौर शुरू, कुलगुरु को महाविद्यालयों ने भेजा पत्र

Advertisement

Nagpur University
नागपुर: 
कॉलेजों के विरोध के बाद ठंडे बस्ते में चले गए राष्ट्रसंत तुकडोजी महाराज नागपुर विश्वविद्यालय परीक्षा का 50-50 फार्मूला फिर एक बार सुर्खियों में आ गया है. इस बार करीब 50 से ज्यादा महाविद्यालयों ने कुलगुरु कार्यालय में यह प्रणाली लागू करने की गुजारिश करते हुए पत्र भेजा है. परीक्षा का 50-50 फार्मूला यानी स्नातक (ग्रेजुएशन) के आधे पाठ्यक्रमों की परीक्षा लेने की जिम्मेदारी कॉलेजों की होगी और आधे सेमेस्टरों की परीक्षा की जिम्मेदारी विश्वविद्यालय की होगी.

कुछ महीनों पहले विश्वविद्यालय ने यह प्रणाली सभी कॉलेजों में लागू करने का निर्णय लिया था. एकेडेमिक कौंसिल की बैठक में इसकी सहमति भी बनी थी. लेकिन जून में हुई सभी महाविद्यालयों के प्राचार्यों की बैठक के बाद प्राचार्यों द्वारा इसका विरोध हुआ और विश्वविद्यालय ने अपना निर्णय वापस ले लिया. जिसके बाद अब कॉलेज वापस इस 50-50 के फॉर्मूले की मांग कर रहा है.

50-50 का फार्मूला तीन संकाय आर्ट्स, कॉमर्स व साइंस में लागू होनेवाला था. इसके अनुसार पहले, तीसरे और चौथे सेमेस्टरों की परीक्षाएं कॉलेज में होनी थी और यह परीक्षाएं कॉलेज लेनेवाला था. इसी तरह दूसरे, पांचवें और छटे सेमेस्टर की परीक्षा विश्वविद्यालय की ओर से होनी थी. पत्र का सज्ञान लेते हुए अगर कुलगुरु कॉलेज प्राचार्यों से चर्चा करते हैं तो यह निर्णय कुछ दिनों में लागू हो सकता है.

Advertisement
Advertisement
Advertisement

Advertisement
Advertisement
 

Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement
Advertisement