Published On : Wed, Aug 9th, 2017

शहर की यातायात व्यवस्था भगवान भरोसे


नागपुर:
इन दिनों नागपुर शहर में ट्रैफिक व्यवस्था गड़बड़ाई हुई दिखाई पड़ रही है. ट्रैफिक पुलिस नागरिकों का चालान काटने में लगी हुई है. बिना हेलमेट वाहन चलानेवाले लोगों पर ही पुलिस का ध्यान इन दिनों ज्यादा होने की वजह से ट्रैफिक को सुचारु रखना अब मुश्किल होता दिखाई दे रहा है. ऐसा ही कुछ नजारा इमामवाड़ा चौक और बैद्यनाथ चौक का है. इन दोनों ही चौक से रोजाना सैकड़ों वाहनों की आवाजाही होती है. इमामवाड़ा चौक में सुबह दस बजे से लेकर बारह बजे तक करीब आधा दर्जन ट्रैफिक पुलिस वाहनचालकों के चालान बनाते हुए दिखाई देते हैं.

लेकिन बारह बजे के बाद दिनभर यह दिखाई नहीं देते. यही हाल बैद्यनाथ चौक का है. यहां भी सुबह और शाम के समय थोड़ी देर के लिए ही ट्रैफिक पुलिस मौजूद होते हैं. लेकिन यह ट्रैफिक व्यवस्था सुधारने के लिए नहीं बल्कि चालान कार्रवाई में व्यस्त रहते हैं. और यह भी दिन भर यहां नहीं दिखाई पड़ते. जबकि यह इतना व्यस्त चौक है. जहां इनकी जरूरत दिनभर महसूस की जाती है. यहां पर भी इनकी संख्या पांच से छह होती है.


शहर में यह भी देखने में आ रहा है कि सबसे ज्यादा कार्रवाई बाइक चालकों पर और छोटे मालवाहक वाहनों पर ही कार्रवाई की जा रही है. जबकि शहर में नियमों का उल्लंघन करनेवाले ऑटोचालकों पर नज़रें इनायत रखी जा रही हैं. शायद ही कोई कार्रवाई करते हुए आपको दिख जाए. इस बारे में गणेशपेठ बस स्टैंड चौक पर तैनात ट्रैफिक पुलिस से जब बात की गई तो उन्होंने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि ऑटोचालकों पर इसलिए कार्रवाई नहीं की जाती, क्योंकि ऑटो को जब्त कर रखने के लिए जगह नहीं है. जिसके कारण ऑटोचालक बेखौफ होकर वाहन चलाते हैं.

ट्रैफिक पुलिसकर्मी ने यह भी बताया कि ऑटोचालकों को अब ट्रैफिक पुलिस कर्मियों का भी डर नहीं रह गया है. जिसके कारण अब नागरिकों का भी यही सवाल है कि ट्रैफिक पुलिस केवल चालान काटने का काम कर रही है ट्रैफिक व्यवस्था सुधारने में इनका ध्यान कम ही दिखाई देता है.