| | Contact: 8407908145 |
    Published On : Sat, Sep 29th, 2018

    टेकड़ी फ्लाईओवर को तोड़ने के विषय को विशेष सभा मिली मंजूरी

    Tekdi Flyover

    नागपुर: आनन-फानन में आज नियमानुसार मनपा की विशेष सभा आयोजित की गई. टेकड़ी रोड फ्लाई ओवर को तोड़ने के प्रलंबित प्रस्ताव को मनपा की विशेष सभा में बहुमत के आधार पर मंजूरी प्रदान कर दी गई. लेकिन इस विषय को मंजूर करने के दौरान सभा में पक्ष और विपक्षी दलों का जोरदार हंगामा हुआ. नागपुर रेलवे स्टेशन के सामने टेकड़ी उड़ान पुल को गिराने के प्रस्ताव पर विपक्ष के नेता तानाजी वनवे ने कहा कि सारा काम महामेट्रो के हवाले कर दें, सारी समस्याओं का हल एक बार में निकल आएगा.

    उन्होंने कहा कि वे शहर के विकास का विरोध नहीं कर रहे हैं लेकिन विकास के चक्कर में किसी की रोजी-रोटी छीन ली जाये, यह उचित नहीं. तकरीबन घंटे भर देरी से शुरू हुई इस विशेष सभा में अधिकांश तौर पर महामेट्रो से जुड़े प्रस्ताव शामिल थे. जिसे देखकर कांग्रेस के नगरसेवकों समेत विपक्षी दलों ने विरोध किया. कांग्रेस के नगरसेवक प्रफुल्ल गुड़धे पाटिल ने इसे देखते हुए सत्तापक्ष और प्रशासन पर गडकरी के चुनावी एजेंडो को पूरा करने का गंभीर आरोप लगा दिया. आरोपों के बाद सभा में जमकर हंगामा हुआ.

    विषय क्रमांक २२६ के तहत ऑरेंज सिटी स्ट्रीट के निर्माणकार्य को महामेट्रो को देने का विरोध प्रफ्फुल गुड़धे पाटिल ने किया. इसके बाद सत्तापक्ष और प्रशासन पर संगीन आरोप लगाए कि वे खुद के बजाय गडकरी के चुनावी प्रस्तावों को अमलीजामा पहनाने में मशगूल हैं. क्यूंकि सत्तपक्ष बहुमत में है इसलिए बेरोकटोक गडकरी के प्रस्तावों को मंजूरी मिल जाती है. गुड़धे ने इस मामले में कहा कि वीएनआईटी की रिपोर्ट के अनुसार जब रामझूला के दोनों मार्ग शुरू हो जाएंगे, तब होने वाली यातायात बाधा का अध्ययन कर उड़ान पुल संबंधी उचित निर्णय लिया जाना चाहिए.

    वहीं प्रशासन ने महामेट्रो की रिपोर्ट का आधार देकर उड़ान पुल को ढहाकर सड़क चौड़ी कर बाधित होनेवाले ७२ दुकानदारों का पुनर्वास करने का आश्वासन देने के बाद इस प्रस्ताव को मंजूरी प्रदान करने की मांग की. इस मुद्दे पर पक्ष-विपक्ष के बीच तगड़ी बहस हुई. सत्तापक्ष नेता संदीप जोशी ने कहा कि उड़ान पुल का निर्माण जनता से वसूले गए कर से १० साल पहले हुआ था. यह भी सच है कि पुल निर्माण का निर्णय गलत था, पुल ढहाने के पूर्व ७२ दुकानदारों को पहले अस्थाई फिर स्थाई जगह देने का सुझाव देकर और खोवा व पान बाजार की तर्ज पर पुनर्वसन करने के निर्णय पर सभागृह राजी हो गया.

    सत्तापक्ष के पक्ष में ९२ मत पड़े, जिसमें बसपा के संजय बुर्रेवार का मत भी शामिल था. तो वहीं विपक्ष के समर्थन में मात्र २३ मत पड़े. सत्तापक्ष को मिले मत के आधार पर इस विषय को सूचना के साथ मंजूरी प्रदान करने की घोषणा महापौर ने की. इसके अलावा मनपा में तबादले सम्बन्धी प्रस्ताव पर सत्तापक्ष नेता संदीप जोशी ने प्रस्ताव मनपा के विधि समिति को भेजने का सुझाव देते हुए अंतिम समीक्षा रिपोर्ट पेश करने के लिए कहा.

    इसके लिए मनपा के तीन वरिष्ठ नगरसेवकों जिसमें दयाशंकर तिवारी, सुनील अग्रवाल और प्रफ्फुल गुड़धे पाटिल को संयुक्त रूप से विधि समिति को सहयोग करने के लिए नियुक्कत किया. साथ ही यह भी जानकारी दी गई कि नेताजी मार्केट की मनपा शाला को जस का तस रखा जाएगा. वहीं पूर्व महापौर प्रवीण दटके ने केलीबाग रोड के चौड़ाईकरण के लिए लगनेवाली निधि में से 30 प्रतिशत निधि महाराष्ट्र स्वर्ण जयंती नागरोत्थान महाअभियान योजना से मांगने के लिए प्रस्ताव तैयार की मांग की.

    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145