Published On : Sat, Sep 29th, 2018

युवा पीढी रोजगार पाने के बजाय रोजगार देने वाला बनने की सोच रखे : नितीन गडकरी

नागपुर: केंन्द्रीय सड़क परिवहन राष्ट्रीय राजमार्ग तथा जल संसाधन, नदी विकास एंव गंगा शुद्धिकरण मंत्री नितिन गडकरी ने नागपुर में सेन्ट्रल इंडिया ग्रुप आफ इस्टीट्रयुशन के लोणार गांव स्थित परिसर में डी. फार्मेसी संस्थान की इमारत का उद्घाटन किया इस मौके पर उपस्थित छात्रों को संबोधित करते हुए श्री गडकरी ने कहा कि हमारा देश धनवान है मगर हमारे देश की जनता गरीब है क्योंकि हम हमारे देश के विकास नें जो सही नीतियां हमें समय रहते अपनाना चाहिए थी वो हम नही अपना सके। इनोवेशन रिसर्च स्किल डेव्लपमेंट साईन्स एवं टेकनॉलोजी जिसे हम नॉलिज कहते है और कन्वर्शन ऑफ नॉलिज इन टू वेल्थ इसकी क्षमता हमारे देश के युवाओ के पास तो बहुत है लेकिन उन्हे काम करने के सही अवसरों की कमी है इसके लिए कही न कही हमारी सोच ही जिम्मेदार है क्योंकि नौकरी और रोजगार में हमें फर्क समझना होगा रोजगार का अर्थ स्वारोजगार भी होता है।

हमें रोजगार पाने वाला बनने के बजाय रोजगार देने वाला बनने की सोच रखनी होगी। स्वयं का उदाहरण देते हुए उन्होने बताया की वकालत की डिग्री पास करने के बाद मां चाहती थी कि मैं बैकं की नौकरी करु बहने चाहती थी कि मैं वकील बनू मगर मैंने कहा मैं रोजगार देने वाला बनुगा पाने वाला नही और अभी तक मैंने 15 हजार लोगों को रोजगार प्रदान किया है।

केंन्द्रीय मंत्री ने कहा कि आज अमेरिका में अधिकांश सॉफ्टवेयर इंजीनियर भारतीय है और 10 में से 4 डॉक्टर भारतीय है। इंग्लैड में तो अगर कोई बीमार पडता है तो लोग उसे भारतीय डॉक्टर के पास जाने की सलाह देते है। ये हमारे देश की क्षमता को दर्शाता है। श्री गडकरीजी ने कहा कि यदि हम ठान लें तो हमारे पास अवसरों की कमी नही है बसर्ते हममें काम करने की जिद होनी चाहिए । यही वजह है कि आज नागपुर म्युनिसिपिल कॉरपोरेशन टायलेट का पानी को बेचकर ८० करोड रुपयों का राजस्व कमा रहा है। जिस पानी से बिजली पैदा की जा रही है।

उससे निकलने वाली वेस्ट से भी गैस पैदा हो रही है। जो भविष्य में वाहन चलाने के लिए उपयोग में लाई जाएगी हमारे कटे हुए बालों से अमीनो एसिड बनाया जा रहा है। जो खेती के लिेए फायदे मंद है। हमें दुबई तक से इसे निर्यात करने के आर्डर मिल रहे है। श्री गडकरी ने बताया कि दिल्ली में निकलने वाले कूडे से हमें खाद मिल सकती है जिसे हम विदर्भ किसानो के लिए लाने का प्रयास कर रहे है।

केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि आज का दौर स्किल नॉलेज और इनोवेशन का दौर है यदि आपके पास में है तो लोग ढूंढ कर आपके पास आयेगें क्यालिटी उद्देश्य प्लानिंग और स्पष्टता आपके पास होनी चाहिए। शार्टकट से जीवन में कभी सफलता नहीं मिल सकती । अभी हाल में एक युवा मेरे पास आया उसने गैस सिलेंडर से कपडे प्रेस करने का सफल प्रयोग किया । हमारे नागपुर में शक्कर से हम डिटर्जेंट, शैम्पू, फैशवाश बना रहे है। जिसकी विदेशी बाजार में काफी मांग है। श्री गडकरी ने कहा कि इस जमाने में कुछ भी वेस्ट नही है थोडा सा दिमाग लगाकर हम वेस्ट को वेल्थ में बदल सकते है। इसके लिए आपको अलग दिमाग खुला रखना होगा । मुस्लिम महिलाओं का जिक्र करते हुए केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि उनके हाथों में कशीदाकारी और कढाई का हुनर है। जिससे वे अच्छा पैसा कमा सकती है। श्री गडकरी ने कहा कि समाज में बेटे बेटियों को आगे बढने के समान अवसर मिलने चाहिए ।

इस मौके पर श्री गडकरी के अलावा मुंबई उच्च न्यायालय की नागपुर पीठ के न्यायधीस श्री जेड ए हक तथा राज्य के ऊर्जा मंत्री श्री. चंद्रशेखर बावनकुळे पूर्व मंत्री अनीस अहमद महाराष्ट्र राज्य ग्रामीण आजिविका मिशन की सी ई ओ आर विमला जी विधायक सुनील केदार जी, आर्ट टी सी के आशीष पाल सहित अनेक गणमान्य नागरिक तथा छात्र उपस्थित थे ।

श्री गडकरी ने केंद्र सरकार के कौशल विकास कार्यक्रम के तहत संचालित ख्वाजा गरीब नवास और डी. डीय जी के वाय को सीखो और कमाओ योजना के तहत प्रशिक्षणार्थी १२०० छात्रों के एक करोड रुपए की छात्रवृति की राशि की पहली किस्त प्रदान की साथ ही संथान के प्रतिभाशाली छात्रों के सन्मानित किया गया। इस मौके पर आई टी सी के सहयोग से पुराने पडे ऑटो वाहनों को इलेक्ट्रिक वाहन में कनवर्ट कर उसे संथान से प्रशिक्षण प्राप्त छात्रों को सौपा गया । कार्यक्रम में पूर्व मंत्री तथा सेंट्रल इऩ्डिया ग्रुप ऑफ इस्टीट्यूट के प्रमुख अनीस अहमद ने संथान की गतिविधियों पर प्रकाश डाला।