Published On : Thu, Jun 7th, 2018

नागपुर महानगर पालिका ऐवजदार कामगार संघटना

NMC-Building

नागपुर महानगर पालिका में कार्यरत ऐवजदार सफाई कामगारों ने आज गुरुवार दि. 7 जुलाई को अपने प्रलंबित मांगो के समर्थन में संविधान चौक पर नारे निदर्शन किये और मांग की गई की 45 वर्ष पूर्ण करने वाले ऐवजदार कामगारों को परिवार के एक सदस्य को नियुक्त करने हेतु पर्याय दिया जाय! नारे निदर्शन के दरम्यान संघटन का एक शिष्टमंडल कामगार नेता एवं संघटन के अध्यक्ष भाई जम्मू आनंद के नेतृत्व में संघटन का एक शिष्टमंडल मा. निगम आयुक्त श्री. सिंग से मिला एवं मांगपत्र पर शामिल मांगो पर विस्तार से चर्चा हुई.

नारे निदर्शन का आह्वान नागपुर महानगर पालिका ऐवजदार कामगार संघटना ने किया है! नारे निदर्शन डॉ. बाबा साहेब आंबेडकर पुतला, संविधान चौक पर हुआ जिसमे बड़ी संख्या में ऐवजदार कामगार शामिल हुए! अन्य मांगे जिन मांगो जिन पर चर्चा हुई उनमे प्रमुख रूप से 1) हजेरी में होने वाले भ्रष्टाचार को रोकने हेतु 50 कर्मचारियों के पीछे एक हजेरी स्टैंड बनाया जाय और घड़ियों के पीछे करोडो रूपए बर्बाद न किया जाय, 2) सफाई कामगारों के ४००० नए पद निर्माण कर ऐवजदार कामगारों को स्थायी किया जाय, 3) कर्मचारी राज्य जीवन बीमा के तर्ज पर मनपा स्वंय शुरू करे योजना, 4) महगाई भत्ते का लाभ ऐवजदार कामगारों को दिया जाय, 5) ऐवजदार कामगारों को पोषाख एवं सफाई सामग्री उपलब्द कराया जाय, 6) किमान वेतन का फर्क दिया जाय, 7) 45 वर्ष पूर्ण करने वाले ऐवजदार कामगारों को परिवार के एक सदस्य को नियुक्त करने हेतु पर्याय दिया जाय, 8) ६० वर्ष के पहले निधन या स्वास्थ कारणों के चलते काम न करने की स्थिति में संबधित ऐवजदार कामगार के एक परिजन को ऐवजी का कार्ड दिया जाय, 9) ६० वर्ष ख़त्म होने पर कामगारों का ऐवजीकार्ड रद्द किया जाता है. अतः ऐसे कामगारों का आरोग्य विभाग की ओर से सत्कार कर प्रमाण पत्र दिया जाय, 10) हर ऐवजदार कामगार के भविष्य निर्वाह निधि में नियमित रूप से हर महीने भविष्य निर्वाह संघटन में जमा किया जाना चाहिए संबधी निर्देश वित्त व लेखा विभाग को दिया जाय और नियमित रूप से न भरा जाने पर संबधित अधिकारी पर जिम्मेदारी निश्चित की जाय तथा 11) सभी ऐवजदार कामगारों को बोनस एवं 5% घर भाडा भत्ता दिया जाय!

नारे निदर्शन को सफल बनाने हेतु सर्वश्री चंद्रभान गजभिये, अनीता मेंढे, प्रकाश मेश्राम, इंदुबाई गजभिये, सुधीर गजभिये, राजेश इंदुरकर, अविनाश झंझाड़, कैलाश मेश्राम, वर्षा घोड़घाटे, मोहम्मद अंसारी, किरण दाव्धारे, भदुकर मेश्राम, पूर्णा कोंडाबुरले, अन्नपूर्णा पोटपोसे, रामाधार शाहू, चन्द्रकला कोहाड, भगवान प्रसाद, गीता वारकर, अनीता मेश्राम, यशोदा जाम्भुलकर, किशोर म्हात्रे, ज्योति साखरे, रमेश कोंडाबुरले, पुष्पा म्हात्रे, राधा महाजन, सिंधुबाई शेंडे, कल्पना करंडे, चन्द्ररेखा जनबंधु, सुनंदा मेश्राम सुन्दरबाई चोव्हान, विकास मून, बबिता लोखंडे, राष्ट्रपाल कुर्वे, विजय सूर्यवंशी, मंगेश कासारे, चैतानंद अम्बादे, प्रदीप हडके, सुनील बनकर, तेजराम शेंडे, पुष्पा इंगोले, ममता अरकेल, ललिता देशभ्रतार, रमा करवादे, देवकाबाई वाल्डे, उज्व्लाबाई, निर्मला डोमके, पुकेश मेश्राम, सुन्धुबाई अडाऊ, मंगेश कसाटे, योगिता बक्सरे, सुधाबाई शेंडे, कल्पना फेंडर, कैलास तायडे, राधाबाई राने, राधाबाई कटारे तथा प्रदीप शेंडे अथक प्रयास कर रहे हैं!

मोर्चे में बड़ी संख्या में ऐवजदार कामगारों को शामिल होने का आह्वान संघटन के सचिव भाई. रमेश गवई ने किया है!