Published On : Thu, Apr 9th, 2020

मोमिनपुरा के मस्जिद में छिपे मिले म्यांमार के 8 नागरिक, मामला दर्ज

नागपुर: म्यांमार के 8 नागरिकों के खिलाफ तहसील पुलिस ने मामला दर्ज किया है. बताया जाता है कि सभी तबलीगी जमात से जुड़े हैं, लेकिन निजामुद्दीन की मरकज का हिस्सा नहीं थे. वीसा और लॉकडाउन का उल्लंघन करने के मामले में उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है. बिना पुलिस को सूचना दिए ये लोग नागपुर की मस्जिद में रह रहे थे. इस कार्रवाई से पूरे मोमिनपुरा परिसर में खलबली मच गई है.

सूत्रों के अनुसार पकड़े गए 4 पुरुष और 4 महिला म्यांमार के यान्गॉन शहर के रहने वाले हैं. सभी वैध वीजा लेकर 7 मार्च को नागपुर पहुंचे थे. गिट्टीखदान थानांतर्गत स्थित एक मस्जिद में सभी रुके थे. शहर पुलिस द्वारा लॉकडाउन घोषित करने के बावजूद ये लोग मस्जिद में रह रहे थे. परिसर में पुलिस का दबाव बढ़ता देख आठों लोग 21 मार्च को मोमिनपुरा के अंसारनगर में स्थित इदरा-ए-इदाफिजुल कुराट (लाल मरकज) चले गए. तब से उनके बारे में किसी को जानकारी नहीं थी. बीते सोमवार को तहसील पुलिस को जानकारी मिली कि शहर की सारी मस्जिदें बंद होने के बावजूद कुछ विदेशी नागरिक अंसारनगर की लाल मरकज में रुके हुए हैं.

खबर के आधार पर तहसील पुलिस ने मरकज में दबिश दी. तलाशी में 8 लोग मिले. उनका नाम-पता पूछने पर म्यांमार के नागरिक होने का पता चला. बाकायदा वीजा लेकर सभी नागपुर आए थे, लेकिन लॉकडाउन होने के बावजूद धार्मिक स्थल पर रुके हुए थे. पुलिस ने तुरंत उन्हें एमएलए होस्टल में बने आइसोलेशन सेंटर में क्वारंटाइन करवाया. पुलिस द्वारा चेताए जाने के बाद भी विदेशी नागरिक होते हुए भी इन लोगों ने स्थानीय पुलिस को सूचना नहीं दी थी, इसीलिए तहसील पुलिस ने विविध धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है.