Published On : Wed, Nov 12th, 2014

नागपुर : खापरखेड़ा से की जाए ‘सांसद आदर्श ग्राम योजना’ की शुरुवात – अशोक झिंगरे


नागपुर (खापरखेड़ा)।
देश के गांवों का विकास करने के उदेश्य से केंद्र सरकार की सांसद आदर्श ग्राम योजना का शुभारंभ 11 अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजधानी दिल्ली में किया. इस योजना के अंतर्गत प्रत्येक सांसद पर 2016 तक एक और 2019 तक निर्वाचन क्षेत्र के तीन गाँवो में मुलभुत सुख सुविधाओं की जिम्मेदारी सौंपी गयी है. इसके अलावा केवल मुलभुत सुविधाएं ही नहीं बल्कि महिला सुरक्षा, सामाजिक न्याय, शांति, पर्यावरण, स्थानीय स्वशासन इस प्रकार की सभी आघाडियों पर गाँवो का विकास करने का लक्ष सांसदों के सामने रखा गया है. 15 अगस्त को लाल किले पर दिए गए भाषण में प्रधानमंत्री मोदी द्वारा व्यक्त की गयी.

सांसद आदर्श ग्राम योजना को लोकनायक जयप्रकाश नारायण की जयंती पर सही मायनो में इस योजना का श्रीगणेश किया इसलिए इस योजना की शुरुवात क्या सांसद कृपाल तुमाने खापरखेड़ा शहर से करेंगे? ऐसा सवाल उठाने के कारण इस विषय पर जोरदार चर्चा छायी हुयी है. खापरखेड़ा यह परिसर संपूर्ण महाराष्ट्र में औद्योगिक क्षेत्र में भौतिक सुविधाएं उपलब्ध ना होने के कारण यह परिसर आज भी विकास से कोसों दूर है. इस योजना के अंतर्गत सांसदों द्वारा चुने गए आदर्श ग्राम बनाने की घोषणा किये जाने के कारण खापरखेड़ा की जनता की आशाएं पल्लवित हुयी है. इस परिसर की जनसंख्या लघभग डेड से दो लाख तक है.

इस परिसर में दो बड़े बिजली के केंद्र है और यहाँ का परिसर कोयला खदानों से चारों ओर से घिरा हुआ है. लेकिन खापरखेड़ा शहर के विकास के लिए राजनीतिक नेताओं के पास राजनीतिक इच्छाशक्ति और योजनाबद्ध विकास की रुपरेखा ही ना होने के कारण इस परिसर का विकास रुका हुआ है. इससे पहले यहाँ प्रभावशाली नेताओं का भी कुछ उपयोग नहीं हो पाया. परिसर में कामगार, किसान, विद्यार्थी, पढ़े-लिखे बेरोजगार युवक, जिनके हाथ में कोई काम ही नहीं है, ऐसे मजदुर वर्ग की संख्या यहाँ काफी है.

इसके अलावा इस परिसर में इंजीनियरिंग कॉलेज, अत्याधुनिक सुख सुविधायुक्त अस्पताल, खेल के मैदान, महाविद्यालय, रास्ते, शुद्ध पिने का पानी,सौ प्रतिशत शौचालय मुक्त परिसर और बाजार आदि का अभाव है. सरकार आदेश के अनुसार आगामी 11 नवंबर को सांसदों द्वारा अपने निर्वाचन क्षेत्र में चुने गए गांवों के नाम आदर्श ग्राम योजना के लिए केंद्रीय ग्राम विकास मंत्रालय के पास देता है. ऐसी कारण इसमे सावनेर-कलमेश्वर विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के खापरखेड़ा शहर का समावेश करने आदर्श ग्राम बनाने की मांग शिवसेना उपजिला प्रमुख अशोक झिंगरे ने की है.

Sansad Adarsh gram yojna

Representational Pic