Published On : Wed, Dec 28th, 2016

देश पर 8/11 का असर वैसा ही जैसा अमेरिका पर 9/11 का हुआ : मोहन प्रकाश

mohan-prakash
नागपुर:
आजादी के समय 100 करोड़ के बजटवाले देश को 16 लाख करोड़ के बजटवाला देश बनाने में कांग्रेस का योगदान रहा है। सत्तापक्ष के लोग कैसे कह सकते हैं कि कांग्रेस ने क्या किया। 8 /11 को लिए गए नोटबंदी के निर्णय से देश पर वैसा ही असर हुआ है, जैसा असर अमेरिका पर वहाँ हुए 9/11 के आतंकी हमले के बाद हुआ था। नोटबंदी का देश पर हुए असर की कुछ इस तरह तुलना अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के मुख्य सचिव व महाराष्ट्र राज्य के प्रभारी मोहन प्रकाश ने बुधवार को नागपुर में कांग्रेस की 131वीं वर्षगांठ के अवसर पर की। बतौर विशेष अतिथि उन्होंने अपने भाषण में सरकार और संघ के रिश्तों को लेकर जमकर हमला किया। साथ ही आरोप लगाते हुए सवाल किया कि संघ को दिए जानेवाला गुप्त दान काला धन है या सफेद इसका खुलासा मोदी क्यों नहीं करते। इसी तरह कैशलेस व्यवस्था के लिए ऑनलाइन पेमेंट का संचालन करनेवाली कम्पनियों को विदेशी बताकर मोदी को उन विदेशी कम्पनियों का ब्रांड अंबासेडर तक कह डाला। पूर्व केंद्रीय मंत्री व कांग्रेस के वरिष्ठ नेता विलास मुत्तेमवार ने भी नोटबंदी व शहर में आयोजित की गई धर्मसंसद में उठे हम दो-हमारे दस वाले फलसफे पर सरकार की चुप्पी पर चुटकियां ली। साथ ही प्रधानमंत्री द्वारा काले धन की वापसी के साथ गरीबों के खाते में 15 से 20 लाख जमा कराने के वादे को भी याद दिलाया।

प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष अशोक चव्हाण ने कहा कि भाजपा सरकार ने महाराष्ट्र के लोगों का मन जीतने का नहीं बल्कि लोगों की लक्ष्मी दर्शन के लिए चुनाव में जीत हासिल की है। भाजपा के इस खेल को उजागर करने के लिए उन्होंने मनपा चुनाव में जीत दर्ज कर जीत का सिलसिला लोकसभा चुनाव तक कायम करने की अपील कांग्रेस की उम्मीदवारी पाने के इच्छुक लोगों से की। उन्होंने कहा कि नोटबंदी से लेकर किसान कर्ज माफी तक के मसले पर सरकार के सारे प्रयास असफल रहे हैं। श्री चव्हाण ने कहा कि आम आदमी को उसके अधिकार का ही पैसा नहीं मिल रहा है वहीं भाजपा नेताओं की गाड़ियों मेें करोड़ों रुपए कैश मिल रहा है। उन्होंने केंद्रीय मंत्री नितीन गड़करी द्वारा ‘अच्छे दिन के जुमले को गले की हड्डी’ करार देने के बयान को हास्यास्पद करार दिया। साथ ही विदर्भ के साथ मराठवाड़ा और शेष महाराष्ट्र में परिवर्तन की लहर बनाने का ऐलान किया। श्री चव्हाण ने सरकार के सहयोगी दल शिवसेना पर भी तंज कसा। कहा कि शिवसेना की स्थिति ऐसी है कि पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे को मंच पर अपने साथ बैठाने के लिए मोदी अपने कार्यकर्ताओं से आग्रह करते हैं। नोटबंदी पर चर्चा के इच्छुक शिवसेना के सांसदों को अपने प्रधान मंत्री से मिलने के लिए लंबा इंतजार करना पड़ता है।

नागपुर शहर कांग्रेस अध्यक्ष विकास ठाकरे ने कहा कि हम जातिवाद का मुकाबला करने के लिए तैयार हैं। उन्होंने मनपा में भारी भ्रष्टाचार होने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि भाजपा के इसी भ्रष्टाचार को उजागर करने पोलखोल यात्रा की शुरूआत 1 जनवरी से 10 जनवरी तक शहर के सभी वार्डों में कार्यकर्ता करेंगे। बूथ स्तर पर 15 कार्यकर्ताओं के चुनाव की तैयारियों में जुटे होने की भी सूचना दी। उन्होंने कहा कि ये कार्यकर्ता चुनाव के बाद भी जनता के हितों के लिए सक्रिय भूमिका निभाएंगे। मनपा चुनाव के लिए संगठनात्मक तौर पर पूरी तैयारी किए जाने का दावा भी श्री ठाकरे ने किया।