Published On : Wed, Nov 29th, 2017

विदेश राज्यमंत्री ने नागपुर में दी जानकारी डोकलाम में पूरी तरह शांति


नागपुर: डोकलाम सीमा पर चीन की तरफ से निर्माणकार्य किये जाने की बात सिर्फ अफ़वाह है। डोकलाम में वर्त्तमान में शांति है यह जानकारी बुधवार को विदेश राज्य मंत्री ( रिटायर ) जनरल वीके सिंह ने दी। मंत्री के मुताबिक बीते दिनों चीन और भारतीय सेना के बीच डोकलाम में हुए विवाद के बाद चीन के सैनिक वहाँ से हट तो गए लेकिन उनके द्वारा अब भी हलचल शुरू होने की जानकारी सामने आ रही है। यह भी जानकारी भी सामने आयी थी की चीन द्वारा सीमा पर 400 मीटर ऊंचाई की दीवार का निर्माण किया जा रहा है। जब बात की जानकारी एकत्रित की गई तो वहाँ चीन द्वारा किसी भी तरह के मूवमेंट नहीं होने की जानकारी सामने आयी। विदेश राज्य मंत्री के मुताबिक डोकलाम में फ़िलहाल पूरी तरह शांति है और किसी भी विषय पर द्विपक्षीय बातचीत की आवश्यकता नहीं है।

अण्णा आंदोलन से कोई लेना देना नहीं
सेना के रिटायर होने के बाद वीके सिंह ने सार्वजनिक जीवन की शुरुवात अण्णा आंदोलन से ही की थी। तब भ्रस्टाचार को लेकर बड़ा शुरू अण्णा के आंदोलन में न सिर्फ वो शरीक हुए थे बल्कि उनके साथ कई राज्यों की यात्रा भी की थी। जनलोकपाल के मुद्दे पर अण्णा एकबार फिर आंदोलन करने की तैयारी में है लेकिन सिंह ने स्पष्ट किया की वो अब आंदोलन में शामिल नहीं होंगे। उन्होंने तर्क दिया की अब मै सक्रीय राजनीति में हूँ और राजनेता को आंदोलन में शामिल नहीं होना चाहिए ऐसी ही सोच खुद अण्णा की भी है।

बंद हो शिक्षा का बाजारीकरण
अंतर्राष्ट्रीय प्राचार्य सम्मेलन में भाग लेने पहुँचे वीके सिंह ने शिक्षा के बाजारीकरण को लेकर भी चिंता व्यक्त की। विदेश राजयमंत्री के मुताबिक शिक्षा अब के दौर में व्यवसाय बन चुकी है शिक्षा को किसी प्रोडक्ट की तरह बेचा जा रहा है। शिक्षक और विद्यार्थी में बीच भावनात्मक रिश्ता ख़त्म हो रहा है। आवश्यकता है की शिक्षा के बाजारीकरण को रोका जाए।