Published On : Fri, Nov 22nd, 2019

आज से कामकाज शुरू,कल औपचारिक पदग्रहण करेंगे – महापौर जोशी

महापौर सहायता निधि से मदद करेंगे,सर्वपक्षीय नगरसेवकों सह जनमत संग्रह कर शहर को उन्नत करने का वादा

नागपुर – आज शुक्रवार को महापौर निर्वाचित होने के तुरंत बाद संदीप जोशी ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि वैसे तो आज से उन्होंने कामकाज शुरू कर दिया लेकिन कल शनिवार की दोपहर 4 बजे औपचारिक पदग्रहण करेंगे।कल वैसे छुट्टी का दिन हैं, फिर भी कल दिनभर मनपा में बैठकों का दौर जारी रहेंगा।

उन्होंने कहा कि वे महापौर सहायता निधि की शुरुआत करने जा रहे,जिसके तहत स्वास्थ्य संबंधी मुख्यमंत्री सहायता निधि जिन मरीजों को नहीं मिल पाती,वैसे जरूरतमन्दो सह आर्थिक रूप से असक्षम ऊर्जावान खिलाड़ियों को मदद की जाएंगी। इसके लिए नगरसेवक संजय बंगाले की अध्यक्षता में सर्वपक्षीय 4 सदस्यी समिति का गठन किया गया। जो अगले 15 दिनों में संबंधित विषय की रिपोर्ट आगामी आमसभा में पेश करेंगे,जहां सर्वसम्मति से मंजूरी प्रदान की जाएंगी। यह उपक्रम 1 जनवरी 2020 से शुरू हो जाएंगी।

इस महापौर सहायता निधि में आर्थिक सहयोग देने की भी अपील की गई,यह भी कहा गया कि जो नवनिर्वाचित महापौर के स्वागत- सत्कार पर खर्च करने की इच्छा रखते हैं, वे स्वागत-सत्कार पर होने वाली राशि महापौर सहायता निधि में दान करें।

जोशी ने बताया कि 24 नवंबर से वॉक एन टॉक योजना के तहत वे रोज एक उद्यान में नागरिकों से मुलाकात करेंगे,उनके सकारात्मक सुझाव को सिस्टम में लाने का प्रयास करेंगे।

जोशी ने कहा कि 29 नवंबर से 1 दिसंबर के दरम्यान शहर भर में 100 सुझाव पेटी लगाई जाएंगी,इससे मनपा संचालन में आसानी होंगी। 26 नवंबर से 5 दिसंबर तक सभी जोन में शहर की समस्याओं सह सुझाव आमंत्रित किया जाएगा। जिसका निपटारा 11 दिसंबर को मनपा मुख्यालय में शिविर लगाकर किया जाएगा।

कचरा संकलन हेतु उपजी समस्याओं के लिए बीवीजी सह एजी नामक ठेकेदार कंपनी पर 1-1 लाख रुपये जुर्माना ठोकने का आदेश कल शाम दिए जाने की जानकारी भी दी। इस संदर्भ में आज शाम 6 बजे अहम बैठक हैं, अगले सप्ताह तक यह सभी समस्याओं का निपटारा कर लिया जाएगा। 26 नवंबर से मनपा के सभी नगरसेवकों की बैठक लेकर आपसी समन्वय बनाने की पहल शुरू की जाएंगी,जिससे नागपुर शहर उन्नति के मार्ग पर अग्रसर होंगा। जल्द राज्य में बनेंगी भाजपा सरकार – नवनिर्वाचित महापौर जोशी को विश्वास हैं कि राज्य में जल्द ही पुनः भाजपा की सरकार बनेंगी।

उल्लेखनीय यह हैं कि नवनिर्वाचित महापौर ने नई परंपरा की शुरुआत करते हुए ,उन्होंने मनपा की सरकारी वाहन, सरकारी ईंधन का त्याग कर दिया।

उन्होंने खुद की वाहन से ही शहर सह अन्य जगहों पर भ्रमण करेंगे। सिर्फ वे मनपा के सारथी को अपनाएंगे। यह और बात हैं कि उन्हें स्पांडिलाइसिस की शिकायत हैं, इसलिए उन्होंने महापौर के लिए तय सरकारी वाहन का नहीं उपयोग नहीं कर रहे,क्योंकि महापौर का वाहन नीचा हैं।