| | Contact: 8407908145 |
    Published On : Tue, May 11th, 2021

    नागपुर के महापौर की हुई फजीहत, वैक्सीन के लिए चंदा जमा न करने के विभागीय आयुक्त ने दिए निर्देश

    नागपुर- केंद्र व राज्य सरकार की ओर से मुफ्त वैक्सीनशन किया जा रहा है, इसलिए नागपुर महानगरपालिका व स्थानीय संस्थाएं इसके साथ सेवाभावी एनजीओ इसके लिए निधि जमा न करने के निर्देश नागपुर के विभागीय आयुक्त डॉ. संजीव कुमार ने दिए है. जिसके कारण अब मनपा के महापौर द्वारा स्वनिधि से वैक्सीनशन की घोषणा अब हवा होनेवाली है.

    सभी के वैक्सीनशन के लिए महापौर दयाशंकर तिवारी ने मनपा के स्वनिधि से वैक्सीनशन की घोषणा की थी. इसके लिए मुख्यमंत्री से आयुक्त के माध्यम से अनुमति मांगी गई हैं. आयुक्त ने राज्य के सचिव के साथ इस बारे में चर्चा की और उन्होंने सकारात्मक प्रतिसाद देने का दावा सत्तापक्ष नेता अविनाश ठाकरे ने किया था.

    मनपा की स्वनिधि से वैक्सीनशन की घोषणा का विरोध काँग्रेस के सीनियर नेता प्रफुल गुड धे ने किया हैं. महापौर सस्ती पब्लिसिटी के लिए नागरिकों को गुमराह करने का आरोप भी गुड़धे ने किया था.

    अब विभागीय आयुक्त ने ही स्थानीय स्वराज संस्थाओ और निजी एनजीओ को निधि जमा न करने के लिए कहने के कारण महापौर की फजीहत हो गई है.खास बात यह है कि पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस व भाजपा के शहराध्यक्ष प्रवीण दटके ने वैक्सीन खरीदने के लिए एक करोड़ रुपए देने का पत्र महापौर को सौपा है.

    निधि का उपयोग अन्य मेडिकल कार्यो के लिए होगा

    महापौर दयाशंकर तिवारी ने सांसद, अन्य जनप्रतिनिधियों, नगरसेवक और दानवीरों से महापौर निधि में पैसा जमा करने की अपील की है. अब संजीव कुमार इनके आव्हान के अनुसार जमा किया गया निधि का उपयोग अन्य मेडिकल सुविधाओ , वस्तुओ और स्वास्थ्य तकनीकी के लिए किया जा सकता है. लेकिन इस निधि से वैक्सीन नही खरीदी जाएगी, ऐसा आयुक्त ने अब स्पष्ट किया है.

    Stay Updated : Download Our App
    Mo. 8407908145